ईशा का डर

बॉलीवुड में काफी लंबे समय बाद ईशा देओल एक धमाकेदार एंट्री करने वाली हैं. वह एक बार फिर अपनी क़िस्मत आजमाने के लिए सिल्वर स्क्रीन पर वापसी कर रही हैं फिल्म टेल मी ओ खुदा से. उपेक्षा का एक लंबा दौर देख चुकी ईशा बहुत हिम्मत बांधकर वापसी कर रही हैं. ज़ाहिर है, इस फिल्म से उन्हें उम्मीदें भी बहुत हैं. फिल्म की ख़ास बात यह है कि इसकी डायरेक्टर ख़ुद हेमा मालिनी हैं. एक और ख़ास बात है कि धर्मेंद्र ने भी अपनी बेटी की खातिर अभिनय किया है. ईशा अपने माता-पिता की तरह इंडस्ट्री में धाक नहीं जमा पाईं. अपने करियर में ईशा को कोई ख़ास सफलता नहीं मिली. ईशा ने कई फिल्में कीं, लेकिन कोई जोरदार सफलता हाथ नहीं लगी. जो भी सफलता हाथ लगी, उसका क्रेडिट उन्हें नहीं मिल सका, क्योंकि वे फिल्में मल्टीस्टारर थीं. लगातार फिल्में फ्लॉप होने की वजह से वह पर्दे से बहुत दूर हो गई थीं. फिर भी निराश नहीं हैं ईशा. दरअसल, ईशा किसी और चीज से डरती हैं. उन्हें हारर फिल्में करना पसंद नहीं है, क्योंकि इससे दिमाग़ जागरूक हो जाता है और अभिनय करते समय उन्हें ख़ुद डर लगने लगता है. उन्होंने अब तक 20 फिल्मों में काम किया और उनमें से उनकी पसंदीदा फिल्म अनकही है. इसमें उन्होंने मानसिक रोगी का किरदार निभाया था. इसके अलावा उन्हें युवा, डार्लिंग और धूम में भी ख़ूब मजा आया था. ये उनके करियर की यादगार फिल्में हैं. टेल मी ओ खुदा के लिए उन्होंने ख़ूब मेहनत की है. स्क्रिप्टिंग, स्टेज से लेकर हर स्तर तक. ईशा का कहना है कि यह ज़िंदगी का एक नया फेज है, जहां वह मूवी की स़िर्फ एक एक्ट्रेस नहीं हैं. वह एडिटिंग और प्रोसेसिंग जैसे अलग लेवल पर भी इन्वॉल्व रही है. उन्होंने फिल्म निर्माण के छोटे-छोटे पहलुओं को भी समझा. अब तो फिल्म की रिलीज के बाद ही पता चलेगा टेल मी ओ खुदा का जवाब.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *