अक्षय का डर

अक्षय कुमार ने करियर की शुरुआत में कई एक्शन फिल्में कीं. बाद में वह दर्शकों को हंसाने में जुट गए. अब दर्शक उनकी हास्य फिल्मों से ऊब गए हैं तो एक बार फिर उन्होंने एक्शन का साथ पकड़ा है. उनकी खिलाड़ी सीरीज की कई फिल्में हिट हुई थीं, इसीलिए वर्षों बाद वह रॉडी राठौर नामक एक्शन फिल्म कर रहे हैं. पचास साल के होने के पहले वह कुछ एक्शन फिल्में करना चाहते हैं. साथ ही वह सोनी चैनल के ब्रांड एंबेसडर बन गए हैं, क्योंकि उन्हें यह विचार अच्छा लगा कि यह चैनल यंग एडल्ट्स के लिए कार्यक्रम दिखाएगा. वह चाहते हैं कि उनका बेटा भी यह चैनल देखे, क्योंकि इसके कार्यक्रम एक्शन और एडवेंचर आधारित होंगे. एडवेंचर और स्पोर्ट्स को पसंद करने वाले अक्षय युवाओं से अपील करते हैं कि वे प्रतिदिन कुछ घंटे मैदान में बिताया करें. वह हर वर्ष अक्टूबर में मार्शल आर्ट का तीन दिवसीय टूर्नामेंट कराते हैं, जिसमें देश भर के खिलाड़ी आते हैं, जिनके ठहरने-खाने का जिम्मा वह ख़ुद उठाते हैं. जो खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन करते हैं, उन्हें वह विशेष प्रशिक्षण के लिए जापान भेजते हैं. हाल में उन्होंने स्पीडी सिंह नामक फिल्म बनाई, जो आइस हॉकी पर आधारित थी. भारत में इस खेल के  बारे में लोग ज़्यादा नहीं जानते हैं, इसलिए वह फिल्म यहां कम चली, लेकिन उत्तरी अमेरिका में उसने ज़बरदस्त व्यवसाय किया. उन्होंने अपनी फिल्मों के सारे स्टंट ख़ुद किए और कभी डुप्लीकेट का इस्तेमाल नहीं किया. हवाई जहाज के ऊपर खड़े होकर भी उन्होंने स्टंट किए, जो उनकी फिटनेस के कारण ही संभव हो सका. उनके घर पर ही जिम है, जिसमें कोई सीढ़ी नहीं है. ऊपर जाना हो तो रस्सियों का इस्तेमाल करना पड़ता है. उनके जिम को श्रेष्ठ जिम का अवॉर्ड मिल चुका है. एक्शन फिल्में पसंद करने वाले अक्षय ख़ुद एक्शन फिल्म का निर्देशन करने में दिलचस्पी नहीं रखते. ख़तरों से खेलना उन्हें पसंद है, वह डरते हैं तो केवल अपनी बीवी से.

loading...