ज़्यादा चालाक कौन

आम तौर पर मनुष्य को सभी जीवों से ज़्यादा समझदार माना जाता है, लेकिन हाल में किए गए एक अध्ययन के मुताबिक़, केकड़े हमसे कहीं ज़्यादा चालाक होते हैं. वे अपनी ओर आने वाले किसी भी प्राणी के बारे में भांप लेते हैं कि वह दोस्त है या दुश्मन. जर्नल ऑफ एक्सपेरिमेंटल बायोलाजी में प्रकाशित अध्ययन में कहा गया है कि आस्ट्रेलिया के विजन सेंटर के अनुसंधानकर्ताओं ने पाया कि अपनी साधारण आंखों के बावजूद केकड़े आसानी से ताड़ लेते हैं कि उनकी ओर आ रहा प्राणी उनके लिए चुनौती है, दोस्त है या यूं ही पास से गुजरने वाला कोई जीव. वैज्ञानिकों ने बताया कि केकड़े की दृष्टि बेहद कमज़ोर होती है. इस परिस्थिति में भी वे न हार मानते हैं और न व्यामोह के शिकार होते हैं. वे ऐसा करना अभ्यास से सीखते हैं और मनुष्य भी इसी प्रक्रिया का इस्तेमाल करता है. उदाहरण के लिए एक बार आदत हो जाने पर हम एयरकंडीशनर की आवाज़ नज़रअंदाज़ करना शुरू कर देते हैं.