आ गया गूगल का हिंदी वॉयस सर्च सर्विस

भारत में करीब 20 करोड़ इंटरनेट उपभोक्ता हैं और हर महीने मोबाइल के माध्यम से करीब 50 लाख नए उपभोक्ता जुड़ रहे हैं. यह रफ्तार अगर यू ही बरकरार रही तो भारत आने वाले एक साल में अमेरिका को गूगल के प्रयोग में पीछे छोड़ देगा, उन्होंने यह भी बताया कि भारत में सिर्फ 19.8 करोड़ लोगो के ही अंग्रेजी में दक्ष होने का अनुमान है.

अगर आपकी अंग्रेजी कमजोर हैं या आपको अंग्रेजी में कुछ भी सर्च करने में कठिनाई होती है, तो आपके लिए खुशखबरी है. क्योंकि गूगल ने तीस करोड़ हिंदी भाषी लोगों को इंटरनेट से जोड़ने के मकसद से इंडियन लैंग्वेज इंटरनेट अलायन्स (Indian  Language Internet Alliance) को शुरू करने का फैसला किया है. गूगल के सहयोगी के रूप में कंटेंट प्रदान करने के लिए हिन्दी के कई नामी समाचार पत्र, समाचार चैनल और सरकारी एजेंसियां शामिल हैं. फिलहाल अंग्रेजी में वॉयस सर्च उपलब्ध करा रही गूगल ने हिन्दी भाषा में भी वॉयस सर्च सर्विस को जोड़ा है. हिन्दी के साथ-साथ दूसरी भाषाओं जैसे तमिल, मराठी और बंगाली गूगल की सूची में हैं. गूगल इंडिया के उपाध्यक्ष और प्रबंध निदेशक राजन आनंदन की माने तो-भारत में करीब 20 करोड़ इंटरनेट उपभोक्ता हैं और हर महीने मोबाइल के माध्यम से करीब 50 लाख नए उपभोक्ता जुड़ रहे हैं. यह रफ्तार अगर यू ही बरकरार रही तो भारत आने वाले एक साल में अमेरिका को गूगल के प्रयोग में पीछे छोड़ देगा, उन्होंने यह भी बताया कि भारत में सिर्फ 19.8 करोड़ लोगो के ही अंग्रेजी में दक्ष होने का अनुमान है. इनमें से ज्यादातर इंटरनेट से जुड़े हुए हैं इसे ध्यान में रखकर इंडियन लैंग्वेज इंटरनेट अलायन्स (ILIA) का गठन किया गया है यह गठबंधन देश में भारतीय भाषाओं के इंटरनेट यूजर के लिए मिलकर कंटेंट तैयार करेगा.

इसके लिए गूगल ने एक आधिकारिक वेबसाइट www.hindiweb.com को भी लांच किया है. अगर इंटरनेट भारतीय भाषाओं में उपलब्ध होगा तो इसके उपभोक्ता में काफी बृद्धि हो सकती है और इससे सरकार की देश को डिजिटल इंडिया के सपनों को साकार करने में थोड़ी मदद भी मिलेगी.

नोटपैड में हिंदी वर्ड को कैसे सेव करें
अपने कम्प्यूटर या लैपटॉप में जैसे ही आप नोटपैड में हिंदी का कोई वाक्य या पैराग्राफ सेव करने की कोशिश करते हैं तो हिन्दी वाक्य के स्थान पर प्रश्न चिन्ह जैसा निशान दिखता है. जिस हिंदी वर्ड को नोटपैड में हम दोबारा पढ़ नहीं पाते हैं. उस समस्या का बहुत छोटा सा हल है, जिसका प्रयोग कर आप हिंदी वाक्य को नोटपैड में सेव कर सकते हैं और फिर दोबारा पढ़ भी सकते हैं.
इसके लिए आप जब भी कोई हिन्दी वाक्य या पैराग्राफ नोटपैड में सेव करते हैं, तो सेव करते समय हमें तीन ऑप्शन दिखता है, जिसमें हम पहले फाइल का नाम हम लिखते हैं और दूसरे में डॉट टी एक्स टी (.txt ) होता है जो कि नोटपैड का फाइल एक्सटेंशन होता है और तीसरा Encoding का ऑप्शन होता है जिसमें चार ऑप्शन होते हैं, लेकिन ड़िफॉल्ट रूप से ANSI चयनित रहता है. आप उसको छोड़ किसी दूसरे ऑप्शन जैसे Unicode,  unicode big endia या UTF-8 में से किसी एक को चुने और अपने डॉक्यूमेंट को सेव कर दें. अब आपका लिखा हुआ हिंदी का वाक्य या पैराग्राफ सेव हो जायेगा जिसको आप दोबारा पढ़ सकते हैं.

वयस्क कंटेंट सर्च को ब्लॉक करें
Block-Pornवयस्क कंटेंट को ब्लॉक करने की क्यों जरुरत है यह तो हम सभी जानते हैं. अगर आप चाहते हैं कि सर्च करने पर आपके कम्प्यूटर में वयस्क कंटेंट या उससे रिलेटेड वेबसाइट न ही दिखाई दें और न ही ओपन हो तो उसके लिए आप इस तरीके को अपना सकते हैं. यह बहुत ही आसान है और सबसे बड़ी बात तो यह है की आपको इसके लिए न तो किसी सॉफ्टवेयर की जरुरत है, न ही किसी एक्सटेंशन की और न ही किसी प्रोग्रामिंग एक्सपर्ट होने की. इसे हटाकर कोई आपके अनुमति के बिना वयस्क कंटेंट नहीं सर्च कर सकता है. इस तरीके को अपनाने के बाद केवल आप इसे खोल और बंद कर सकते हैं. अपने कम्प्यूटर में व्यस्क कंटेंट को ब्लॉक करने के लिए आप सबसे पहले गूगल सर्च बॉक्स में search setting लिख कर सर्च करें फिर सर्च सेटिंग में जाएं या http://www.google.com/preferences  इस लिंक को टाइप करने के बाद आप सीधे सर्च सेंटिंग में जा सकते हैं. फिर वहां पर आप लॉक सेफ सर्च (Lock safe search) ऑप्शन पर क्लिक करें. उसके बाद आप अपने गूगल अकाउंट/जीमेल के यूजर नाम और पासवर्ड का प्रयोग कर लॉग इन करेंगे. उसके बाद एक स्क्रीन आएगा उसमें आप सेफ सर्च बटन पर क्लिक कर दें. उसके बाद आपको कुछ समय लगेगा फिर यह लॉक हो जायेगा. अब आपके कम्प्यूटर में ब्राउजर कोई वयस्क कंटेंट/साईट नहीं सर्च करेगा. यह सिर्फ गूगल में ही नहीं आपके ब्राउज के सारे सर्च इंजन में भी ब्लॉक हो जायेगा. कोई चाहकर भी वयस्क कंटेंट नहीं सर्च कर सकता, क्योंकि इसमें आपके जीमेल अकाउंट से लॉग इन हुआ है. सेफ सर्च को हटाने के लिए भी उसी अकाउंट से दोबारा लॉग इन करना पड़ेगा और सेफ सर्च को अनलॉक करना पड़ेगा, जो सिर्फ आप कर सकते हैं. आपका सेफ सर्च एक्टिव है की नहीं उसकी जांच करने के लिए आप सर्च करते समय देखें की राइट साइड में सबसे ऊपर चार पांच गुब्बारे दिख रहें या नहीं. अगर आपको यह नहीं दिख रहा है तो समझिए आपका सेफ सर्च एक्टिव नहीं हुआ है. यदि आप सीधा लिंक यूआरएल में डालेंगे तो वो साइट खुल जायेगा.

श्याम सुन्दर प्रसाद

लेखक एक सॉफ्टवेयर प्रोफेशनल हैं.