हार कर भी जीतीं साइना

saina-newalसाइना नेहवाल को वर्ल्ड चैंपियनशिप के फाइनल में स्पेन की कैरोलिना मैरिन से हार का सामना करना पड़ा. स्पेनिश स्टार ने साइना को लगातार सेटों में 21-16 और 21-19 से हराया. लेकिन उन्होंने सिल्वर मेडल जीतकर इतिहास के पन्नों में अपना नाम दर्ज करा लिया. इस हार के साथ ही साइना को सिल्वर से संतोष करना पड़ा. ऐसा पहली बार  हुआ है, जब किसी इंडियन शटलर ने वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल पर कब्जा किया.

पहले गेम में वर्ल्ड नंबर वन कैरोलिना से हार का सामना करना पड़ा, लेकिन शुरुआत में पिछड़ने के बाद साइना ने जोरदार वापसी जरूर की, लेकिन स्पेनिश शटलर से 16-21 से हार गईं. इससे पहले साइना को मारिन से ऑल इंग्लैंड चैंपियनशिप के फाइनल में शिकस्त मिली थी.

साइना भले ही यह मुकाबला हार गई हों, लेकिन उन्होंने एक नया रिकॉर्ड जरूर कायम किया है. इससे पहले किसी भारतीय खिलाड़ी ने इस प्रतियोगिता में ब्रॉन्ज मेडल से ज्यादा नहीं जीत था. इससे पहले तक वर्ल्ड चैंपियनशिप के इतिहास में भारत के नाम चार ब्रॉन्ज मेडल थे. प्रकाश पादुकोण ने 1983 में, ज्वाला गुट्टा और अश्‍विनी पोनप्पा की महिला जोड़ी ने 2011 में तथा पीवी सिंधू ने 2013-14 में ब्रॉन्ज मेडल जीते थे.

loading...