यूएस ओपन भारत की दोहरी सफलता

sania-mirzaसाल के आखिरी ग्रैंडस्लैम यूएस ओपन से भारत के लिए अच्छी खबर आई. भारत की सानिया मिर्जा और लिएंडर पेस ने अपनी जोड़ीदार स्विटजरलैंड की मार्टीना हिंगिस के साथ महिला युगल और मिक्स डबल्स का खिताब जीतने में सफल रही. सानिया-हिंगिस की जोड़ी ने महिला युगल के फाइनल मुक़ाबले में ऑस्ट्रेलिया की केसी डेलाक्वा और कज़ाखिस्तान की यारोस्लावा श्वोदोवा की जोड़ी को सीधे सेटों में 6-3, 6-3 से हराकर खिताब अपने नाम किया.

यह सानिया का पांचवा ग्रैंड स्लैम खिताब है. साथ ही यह इन दोनों की जोड़ी का लगातार दूसरा ग्रैंडस्लैम खिताब है. इससे पहले इन दोनों ने इस साल के विंबलडन वीमेंस डबल्स का खिताब भी अपने नाम किया था.दूसरी तरफ लिएंडर पेस और हिंगिस की जोड़ी ने मिक्सड डबल्स के खिताबी मुक़ाबले में अमेरिका के बेथानी मैटेक सैंड्स और सैम क्वेरी की जोड़ी को तीन सेटों तक चले मुक़ाबले में 6-4, 3-6 और 10-7 के अंतर से मात दी.

यह इन दोंनों की जोड़ी का यह इस साल का तीसरा ग्रैंडस्लैम खिताब है. इस जीत के साथ ही पेस यूएस ओपन में मिश्रित युगल का खिताब सर्वाधिक बार जीतने वाले खिलाड़ी भी बन गए हैं. लिएंडर पेस के करियर का यह 17 वां ग्रैंडस्लैम खिताब है. इस जीत के साथ ही इंडो-स्विस जोड़ी ने एक नया इतिहास भी रच दिया है. साल 1969 के बाद यह पहला मौका है जब मिश्रित युगल वर्ग में किसी एक जोड़ी ने एक साल में तीन ग्रैंडस्लैम खिताब जीते हैं. महिला एकल वर्ग में इटली की फ्लाविया पैनेटा ने हममतन रॉबर्टा विंची को 7-6(4),6-2 के अंतर से सीधे सेटों में हराकर 49 वें प्रयास में करियर का पहला ग्रैंडस्लैम खिताब जीता.

33 वर्षीय पैनेटा ने इसके तुरंत बाद अंतरराष्ट्रीय करियर को अलविदा कह दिया. वहीं पुरुषों के एकल फाइनल में सर्बिया के नोवाक जोकोविच ने स्विटजरलैड के रोजर फेडरर को 6-4,5-7,6-4,6-4 के अंतर से हराकर साल का तीसरा और करियर का 10वां ग्रैडस्लैम खिताब अपने नाम किया. फेडरर ने आखिरी बार साल 2012 में विबंल्डन के रूप में कोई ग्रैंडस्लैम खिताब जीता था, इस बार भी वह जीत से महरूम रह गये, नहीं तो 34 वर्षीय फेडरर 45 साल में यूएस ओपन का खिताब जीतने वाले सबसे उम्रदराज खिलाड़ी बन जाते.