राजनीति में उतरेंगे अक्षय कुमार ?

akiiiiiiiiiiiiiiiमशहूर फिल्म अभिनेता अक्षय कुमार की इन दिनों प्रधानमंत्री मोदी से बढ़ती नज़दीकियां राजनीतिक गलियारों में सुर्खियां बटोर रही है. चर्चा है कि भाजपा अक्षय कुमार को प्रधानमंत्री से नाराज़ चल रहे बॉलीवुड अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा के विकल्प के रूप में खड़ा करने का मन बना रही है.

कहा जा रहा है कि रूपहले पर्दे से राजनीतिक पिच पर उतरने के लिए अक्षय कुमार ने भी ज़ोर शोर से तैयारियां शुरू कर दी है. सूत्रों का कहना है कि अक्षय की इन दिनों सामाजिक कार्यो में बढ़ती दिलचस्पी उनकी इसी रणनीति का हिस्सा है.

बताते है कि हाल ही में अक्षय कुमार ने महाराष्ट्र के यवतमाल जिले में पिम्परी बुट्टी गांव को गोद लिया है. खिलाड़ी कुमार के इस गांव को गोद लेने के फैसले के पीछे भी प्रधानमंत्री की प्रेरणा मुख्‍य वजह बताई जा रही है. यवतमाल मराठवाड़ा का वह जिला है जहा किसान बड़ी तादात में आत्महत्या कर रहे हैं.

इतना ही नहीं अक्षय कुमार मोदी के स्वच्छता अभियान से भी ख़ासा प्रभावित बताये जाते हैं. पिछले दिनों अपनी फिल्म टॉयलेट- एक प्रेम कथा की मथुरा में चल रही शूटिंग के दौरान अक्षय ने प्रधानमंत्री के इस कदम की जोरदार हिमायत की थी. इस फिल्म में अनुपम खेर भी मुख्‍य भूमिका में है.

अक्षय पिछले कुछ महीनो से प्रधानमंत्री मोदी की नीतियों के समर्थन में खुल कर आते रहे है. उड़ी हमले के बाद भारतीय सेना द्वारा एलओसी पार की गयी सर्जिकल स्ट्राइक का खुलकर समर्थन करके भी अक्षय ने बॉलीवुड में जबरदस्त सुर्खियां बटोरी थी. तब से लगातार अक्षय के तेवर राजनीति में उनके बढ़ते कदमो की आहट का एहसास कराते रहे है. यही नहीं सर्जिकल स्ट्राइक का सबूत मांगने और सैनिको के खून की दलाली करने जैसे सवालों की तीखी आलोचना करके भी अक्षय ने अपने राजनीतिक इरादे साफ़ कर दिए है.

सुनने में आया है कि भाजपा भी अक्षय कुमार की पार्टी में धमाकेदार एंट्री को लेकर काफी उत्साहित है. सच्चाई यह है कि मोदी से मनमुटाव के चलते शत्रुघ्न सिन्हा के हाशिये पर चले जाने के बाद भाजपा के पास हेमा मालिनी के आलावा कोई दूसरा चर्चित चेहरा नहीं है. ऐसे में अक्षय कुमार भाजपा के लिए फायदे का सौदा साबित हो सकते हैं.

इस बीच  फिल्‍म अभिनेता अक्षय कुमार प्रधानमंत्री की ही तर्ज पर जवानों का उत्साह बढ़ाने आज बीएसए जवानों के बीच जम्‍मू पहुंचे!