टिकट बंटवारे पर भिड़े चचा-भतीजा, धरती पुत्र खामोश

akhilesh-yadav-shivpal-yadav-mulayam-singh-yadav-sp समाजवादी पार्टी में सीटों के बंटवारे पर कलह थमने का नाम नहीं ले रहा है. 325 कैंडिडेट्स का एलान हो चुका है. इस लिस्ट में अखिलेश के करीबी मंत्रियों के नाम नहीं हैं. इस लिस्ट में से 108 कैंडिडेट्स ऐसे हैं, जिनके बारे में अखिलेश ने पहले ही अपनी नापसंदगी जाहिर की थी. वहीं टिकट बंटवारे में शिवपाल और अमर सिंह की जोड़ी की खूब चली है.

मुलायम सिंह यादव ने बुधवार को समाजवादी पार्टी के कैंडिडेट्स का एलान किया था. इसमें शिवपाल समर्थक तो हैं, लेकिन अखिलेश के तीन करीबी मंत्रियों के नाम भी लिस्ट से बाहर हैं. इस लिस्ट को लेकर अखिलेश अपनी नाराजगी जाहिर कर चुके हैं. उन्होंने रविवार को मुलायम सिंह से मुलाकात कर 403 कैंडिडेट्स की लिस्ट सौंपी थी.

सपा से जारी लिस्ट और अखिलेश की लिस्ट में कई नामों पर मतभेद हैं. अखिलेश की लिस्ट से मुख्तार अंसारी, अतीक अहमद और अमनमणि जैसे नाम बाहर हैं. उनमें ऐसे भी कैंडिडेट्स हैं, जिनके नाम शिवपाल ने लिस्ट से बाहर कर दिए थे. वहीं, मुलायम ने साफ कर दिया है कि इस लिस्ट में अब कोई बदलाव नहीं होगा.

Read Also : जयललिता की मौत पर मद्रास हाई कोर्ट को शक, कब्र से निकला जा सकता है शव

नाराज़ अखिलेश ने आवास विकास परिषद की उपाध्यक्ष सुरभि शुक्ला और राजकीय निर्माण निगम के सलाहकार संदीप शुक्ला को बर्ख़ास्त कर दिया है. दोनों मुलायम और शिवपाल के करीबी माने जाते हैं. खबर मिली है कि अखिलेश ने कैंडिडेट्स को लेकर एक सर्वे कराया था.

इसके आधार पर ही लिस्ट तैयार की थी. गुरुवार को अखिलेश यादव ने सभी समर्थक विधायकों और मंत्रियों को अपने घर बुलाया है. उनसे बातचीत के बाद अखिलेश कोई बड़ा सियासी दांव चल सकते हैं.