निर्देशक बनना चाहती हैं कंगना

पिछले दिनों एक कार्यक्रम के दौरान कंगना ने अपने काम को लेकर ऐसी बात कही जा शायद ही कोई कहे. जी हां, कंगना ने एक कार्यक्रम में कहा कि मुझे मेरे काम में कुछ भी पसंद नहीं है. मैं उन क्रेजी लोगों से नहीं मिलना चाहती, जिनका किरदार मुझे निभाना है. मुझे वो परिस्थितियां पसंद नहीं हैं, जिनसे मेरे किरदार को गुजरना है.

ज़ीरो डिग्री में कीचड़ या पानी में खड़ा होना मुझे पसंद नहीं है. सच कहूं तो एक भी ऐसा कारण नहीं है, जिसके कारण मुझे मेरा जॉब पसंद आए. कंगना के अनुसार कोई भी काल्पनिक किरदार निभाने के पहले बहुत सोचना पड़ता है.

कई बार यह काल्पनिक किरदार आप पर हावी हो जाता है जो कि कलाकार के लिए बहुत खतरनाक बात साबित हो सकती है. हमें ऐसी परिस्थितियों के बारे में सोचना पड़ता है, जिनका कोई वजूद नहीं होता.

फिल्म कट्टीबट्टी के किरदार का उदाहरण देते हुए कंगना कहती हैं कि इस फिल्म में मैं कैंसर की मरीज बनी थी. मैं अपनी मृत्यु का दृश्य कर रही थी. मैं पूरा समय
छोटी-छोटी बातों के लिए रोती रही.

मैं इतनी भावुक और संवेदनशील हो गई कि मुझे अपना ख्याल रखना पड़ा, ताकि इसका असर मेरे स्वास्थ्य पर न हो. कंगना जल्दी ही निर्देशक बनना चाहती हैं. उनके मुताबिक आपको अपना अगला कदम उठाने के लिए तैयार रहना चाहिए और जल्दी ही मैं निर्देशक के रूप में नज़र आऊंगी.

loading...