लंबे समय तक खड़े रहने पर हो सकती हैं ये समस्याएं, पढिये क्या कहते हैं Expert…

long-stand-problemविमुद्रीकरण (डिमोंटाइजेशन) के बाद से लोगों को पुरानी करंसी बदलवाने के लिए अथवा बैंक से पैसे निकालने या जमा करने के लिए लंबे समय तक बैंकों के सामने खड़े रहना पड़ रहा है, लेकिन चिकित्सकों का कहना है कि लंबे समय तक खड़े रहने से पैरों की नसों, घुटने एवं रीढ़ में समस्याएं उत्पन्न हो सकती है, इसलिए ऐसे लोगों को कुछ सावधानियां बरतनी चाहिए। विषेशज्ञों का सुझाव है कि बैंको को भी ऐसी व्यवस्था करनी चाहिए ताकि लोगों को लंबे समय के लिए खड़े होने के लिए मजबूर नहीं होना पड़े।
फोर्टिस हास्पीटल ,नौएडा के वरिष्ठ न्यूरो एवं स्पाइन सर्जन डाॅ. राहुल गुप्ता बताते हैं कि लगातार लंबे समय तक खड़े रहने, खास तौर पर एक ही स्थिति (पोजिशन) में खड़े रहने के कारण पैरों की नसों में सूजन (वैरिकोस बेन), पैरों की नसों में क्लाॅटिंग (डीप वेन थ्रम्बोसिस), पैरों की मांसपेशियों में क्रैम्प के अलावा कमर दर्द की समस्याएं हो सकती है। उनका सुझाव है कि अगर किसी को लंबे समय तक खड़े रहना पड़े तो उन्हें बीच-बीच में बैठ जाना चाहिए, थोड़े-थोड़े अंतराल पर अपनी पोजिशन बदल लेनी चाहिए और बीच-बीच में थोडेे-थोड़े समय के लिए टहल लेना चाहिए।
बेहतर यह है कि अगर लंबे समय तक खड़े रहना हो तो बैठने के लिए छोटी कुर्सी अपने साथ रखें। इसके अलावा सही मुद्रा में भी खड़ा होना जरूरी है। इसके अलावा लंबे समय तक खड़े रहने वाले को साथ में पानी की छोटी बोतल रखना चाहिए और बीच-बीच में पानी पीते रहना चाहिए ताकि षरीर को पानी की जरूरत की पूर्ति होती रहे। अगर सड़कों के किनारे खड़ा रहना पड़ते तो मास्क भी लगाना चाहिए ताकि गाड़ियों से निकलने वाले प्रदूशण से बचाव हो सके।
फोर्टिस हास्पीटल (नौएडा) के वरिष्ठ न्यूरो एवं स्पाइन सर्जन डाॅ. राहुल गुप्ता ने कहा कि हालांकि एक—दो दिन के लिए लंबे समय तक खड़े रहने के कारण पैरों में सूजन और दर्द तथा कमर दर्द जैसी समस्याएं होती है जो कुछ समय बाद ठीक हो जाती है लेकिन सुरक्षा गार्डों, रिटेल कर्मचारियों, सैनिकों, पुलिस कर्मियों जैसे जिन लोगों को नौकरी की जरूरतों के कारण कई-कई दिनों तक काफी अधिक समय के लिए खड़े रहना पड़ता उन्हें वेरिकोस बेन, डीप ब्रेन थ्रम्बोसिस और कमर दर्द जैसी समस्याएं काफी बढ़ सकती है।
डाॅ. राहुल गुप्ता ने बताया कि लंबे समय तक लगातार खड़े रहने के कारण मस्कुलोस्केलटन जटिलताएं होती है। उनके अनुसार लंबे समय तक खड़े रहने के कारण जोड़ों में दर्द, पैरों में सूजन, पैरों की मांसपेशियों में दर्द तथा कमर दर्द जैसी समस्याएं फौरी तौर पर होती है जो कुछ कुछ समय में ठीक हो जाती है लेकिन जिन लोगों को लगातार कई दिनों तक लंबे समय तक खड़े रहना पड़ता है तो उनमें स्थायी रूप से मांसपेशियों की क्षति हो सकती है। उनका सुझाव है कि जिस व्यक्ति को पहले से पैरों की नसों में सूजन या वैरिकोस वेन, जोड़ों में तकलीफ और कमर दर्द है उन्हें लगातार लंबे समय तक खड़े होने से बचना चाहिए।
डाॅ. राहुल गुप्ता के अनुसार जब हम लंबे समय तक खड़े रहते हैं तो गुरूत्वाकर्षण के कारण रक्त शरीर के निचले हिस्से की तरफ आता है। हालांकि वैस्कोंस्ट्रिक्षन एवं नसों में वाल्व जैसी शारीरिक प्रणालियों के कारण रक्त उपर जाता है। लेकिन जब हम लगातार एवं कई दिनों तक लंबे समय तक खड़े रहते हैं तो रक्त को षरीर के उपर भेजने वाले नसों के वाल्व कमजोर हो जाते हैं और कई बार खराब हो जाते हैं। ऐसे में गुरूत्वाकर्षण के कारण रक्त शरीर के निचले हिस्से की तरफ आता है लेकिन वाल्व के खराब होने के कारण उपर नहीं जा पाता जिससे पैरों और टखनों की नसें फूल जाती हैं। इस समस्या को वेरिकोस वेन्स कहा जाता है।
नई दिल्ली स्थित इंद्रप्रस्थ अस्पताल के वरिष्ठ आर्थोपेडिक एवं ज्वांइट रिप्लेसमेंट सर्जन डाॅ. (प्रो.) राजू वैश्य बताते हैं कि लंबे समय तक खड़े रहने पर कूल्हे, घुटने, टखनों एवं पैरों की जोड़ों पर दवाब पड़ता है। इससे सिनोवियल जोड़ों में सामान्य लुब्रिकेशन एवं कुशिन को क्षति पहुंचती है जिससे जोड़ घिसते हैं। इसके कारण जोड़ों में दर्द एवं चलने-फिरने में दिक्कत जैसी समस्याएं हो सकती है। लंबे समय तक खड़े रहने के कारण मांसपेशियों पर लगातार दवाब पड़ता है और इसके कारण कमर, पैरों और उंगलियों में दर्द एवं सूजन की समस्याएं हो सकती है।
डा. वैश्य का सुझाव है कि अगर आपको लंबे समय तक खड़े रहना पड़े तो आपको बीच-बीच में थोड़े-थोडे समय के लिए टहलना चाहिए और बीच में अपनी स्थिति बदलते रहनी चाहिए। विशेषज्ञों के अनुसार 20 मिनट से अधिक समय तक एक स्थिति में नहीं बैठना चाहिए और आठ मिनट से अधिक समय तक एक ही स्थिति में खडे होना नहीं चाहिए।
विशेषज्ञों के अनुसार अधिक समय तक खड़े रहने पर रक्त के निर्वाध बहाव में बाधा आती है और इसके कारण कैरोटिड एथ्रोस्क्लेरोसिस जैसी कुछ कार्डियोवैस्कुलर समस्याएं भी हो सकती है।
लंबे समय तक खड़े रहने से हो सकती हैं ये समस्याएं – 
पैरों में दर्द
पैरों में सूजन
कॉर्न्स
एड़ी में दर्द
वैरिकोज  वेंस
कमर दर्द
रक्त में बाधा
जोड़ों में दर्द और जकड़न
गर्दन और कंधों में जकड़न
उच्च रक्त चाप