चुनावी मौसम में RSS का विवादित बयान, विपक्ष ने की घेराबंदी

manmohan-vaidya

नई दिल्ली(ब्यूरो,चौथी दुनिया) : आगामी विधानसभा चुनावों की चहलकदमी के बीच आरएसएस के एक बयान ने बीजेपी को कई राज्यों की राजनीतिक रेस में पीछे कर दिया है। जयपुर के लिटरेचर फेस्टिवल में आरएसएस प्रचारक मनमोहन वैद्य ने कहा कि आरक्षण को खत्म कर दिया जाना चाहिए। सभी को एक समान शिक्षा और समान अवसर का अधिकार प्राप्त होना चाहिए। वैद्य के इस बयान से सियासी गलियारे में भूचाल आ गया है।

वैद्य के बयान पर कांग्रेस समेत सभी विरोधी दलों ने बीजेपी-आरएसएस का घेराव तेज कर दिया। लालू यादव ने आरएसएस के लिए तीखे शब्दों का इस्तेमाल करते हुए कहा कि आरक्षण आरएसएस की खैरात नहीं है तो वहीं अरविंद केजरीवाल ने इस बयान का फायदा पंजाब में उठाना शुरू कर दिया।

इस बयान पर सियासी संग्राम इस कदर तेज हो गया कि देर रात आरएसएस को प्रेस कांफ्रेंस करके अपनी सफाई पेश करनी पड़ी। आरएसएस ने कहा कि उनके बयानों को चुनाव से जोड़कर देखा जाना गलत है।

Loading...