पशुओं का भी होगी यूनिक आइडेंटिफिकेशन, सरकार इसके लिए खर्च करेगी 148 करोड़!

आधार को अनिवार्य करने के बाद अब मोदी सरकार मवेशियों को भी यूनिक आईडी देने पर विचार कर रही है. सरकार की तरफ से गाय भैंसों को एक यूनिक आइडेंटिफिकेशन जारी किया जाएगा. जो उनकी पहचान के आधार पर दिया जाएगा. इस प्लान के अंतर्गत 1 लाख लोग पूरे देश के कोने-कोने में जानकर गाय-भैंसो के कानों में टैग लगाएंगे, इन टैग में UID नंबर सेट किया गया है. इस नंबर के माध्यम से पशुओं के स्वास्थ्य संबंधी और अन्य जानकारियां इंटरनेट पर अपलोड की जाएंगी. यह UID नम्बर पशु मालिकों को भी दिया जाएगा, ताकि वे भी ऑनलाइन ही अपने पशु की हेल्थ से जुड़ी जानकारी हासिल कर सकें. सरकार ने इस काम के लिए कर्मचारियों को टैब भी मुहैया कराया दिया है. टैब के जरिए उस जानवर पर लगाए गए टैग का नम्बर डाटाबेस में अपलोड किया जाएगा.
खबरों की मानें, तो मोदी सरकार इस काम के लिए 148 करोड़ रुपए खर्च करेगी. पशुओं के यूनिक आइडेंटिफिकेशन के लिए केंद्र सरकार ने राज्यों को भी टार्गेट दिया है. उत्तर प्रदेश को हर महीने 14 लाख पशुओं में यह यूआईडी टैग लगाना है, वहीं मध्य प्रदेश को दिए गए टार्गेट का आंकड़ा साढ़े सात लाख है.

loading...