लंदन से धरा गया विजय माल्या, 13 महीने से था भारत से फारार

vijay mallya got arrested in london

विजय माल्या को लंंदन में गिरफ्तार कर लिया गया है। माल्या 13 महीनों से भारत से फरार है. इससे पहले पटियाला हाउस कोर्ट ने विदेशी मुद्रा विनियमन अधिनियम (फेरा) के उल्लंघन के मामले में भगोड़े उद्योगपति विजय माल्या के खिलाफ खुला गैर जमानती वारंट (एनबीडब्ल्यू) जारी किया था।

खुले एनबीडब्ल्यू में जांच एजेंसी के पास आरोपी को पकड़कर अदालत के समक्ष पेश करने की कोई समय सीमा तय नहीं होती। मुख्य महानगर दंडाधिकारी सुमित दास को प्रवर्तन निदेशालय ने जानकारी दी कि बीते वर्ष चार नवंबर को जारी किए गए एनबीडब्लू को अमल में लाने के लिए उन्हें अतिरिक्त वक्त चाहिए।

माल्या फिलहाल लंदन में हैं। पिछली तारीख पर अदालत ने कहा था कि माल्या भारत की न्यायिक व्यवस्था में विश्वास नहीं रखते हैं। उनका अदालत में पेश होने का कोई इरादा नहीं है।

अदालत ने माल्या के उस तर्क को भी सिरे से खारिज कर दिया था जिसमें कहा गया था कि भारतीय एजेंसियों ने उसका पासपोर्ट रद कर दिया है। ऐसे में उनका अदालत के समक्ष पेश हो पाना संभव नहीं है।

ईडी की याचिका पर वर्ष 2000 में विजय माल्या के खिलाफ फेरा नियम के उल्लंघन का मुकदमा दर्ज किया गया था। जिसमें कहा गया था कि माल्या ने 1996, 1997, 1998 में लंदन व दूसरे यूरोपीय देशों में हुए फॉर्मूला वन रेस में अपनी कंपनी का लोगो दिखाने के लिए दो लाख डॉलर की धनराशि गलत तरीके से निवेश की थी।