बड़े काम का है संतरा, बीमारियों को रखता है कोशो दूर

नई दिल्ली, (राज लक्ष्मी मल्ल) : संतरे का नाम सुनते ही मुहं में कुछ खट्टा कुछ मीठा स्वाद आने लगता है. संतरे को हाथ से छीलने के बाद उसे चूसकर खाया जा सकता है, वही कुछ लोग तो इसका जूस निकाल कर पीना पसंद करते है. संतरा शरीर को ठंडक, तन और मन को प्रसन्नता करने वाला फल है. संतरा में विटामिन ए, बी और सी, फाइबार, कैल्शियम, मैग्नीशियम, पोटैशियम, फॉस्फोरस, कोलीन (choline) और अन्य पोषक पदार्थों से भरपूर होता है. तो आइए जानते हैं इसके सेवन से सेहत पर क्या असर होता है-

1. संतरे का सेवन करने से जुकाम में राहत पहुँचाता है, वहीं इसके सेवन से सूखी खाँसी में भी फायदा करता है. यह कफ को पतला करके बाहर निकालता में बेहद मददगार है.

2. संतरे में उपस्थित साइट्रिक अम्ल मूत्र रोगों और गुर्दा रोगों को दूर करता है.

3. संतरे का एक गिलास रस तन-मन को शीतलता प्रदान कर थकान एवं तनाव दूर करता है. इतना ही नही हृदय और मस्तिष्क को नई शक्ति व ताजगी से प्रदान करता है.

4. पेचिश की शिकायत होने पर संतरे के रस में बकरी का दूध मिलाकर लेने से काफी फायदा मिलता है.

5. संतरे का नियमित सेवन करने से बवासीर की बीमारी में लाभ मिलता है. रक्तस्राव को रोकने की इसमें अद्भुत क्षमता है.

6. तेज बुखार में संतरे का जूस पीना बेहद फायदेमंद होता है. इसके सेवन से शरीर का तापमान कम हो जाता है.

7. संतरे में विटामिन-सी, फाइबार और पोटैशियम पाया जाता हैं जो दिल के मरीज के लिए काफी फायदेमंद होता है. इसमें मौजूद पोषक पदार्थ दिल को सुचारू रूप से चलने में मददगार होते हैं.

8. संतरे के सेवन से दाँतों और मसूड़ों के रोग भी दूर होते हैं.

9. जब बच्चों के दाँत निकलते हैं, तब उन्हें उल्टी होती है और हरे-पीले दस्त लगते हैं. उस समय संतरे का रस देने से उनकी बेचैनी दूर होती है तथा पाचन शक्ति भी बढ़ जाती है.

10. गर्भवती महिलाओं तथा यकृत रोग से ग्रसित महिलाओं के लिए संतरे का रस बहुत लाभकारी होता है. इसके सेवन से जहाँ प्रसव के समय होने वाली परेशानियों से मुक्ति मिलती है, वहीं प्रसव पीड़ा भी कम होती है. बच्चा स्वस्थ व हृष्ट-पुष्ट पैदा होता है.