‘टॉक टू AK’ मामले में मनीष सिसोदिया के घर पहुंची CBI

cbi reached deputy cm manish sisoida to record his statement on 'talk to ak'

नई दिल्ली : दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के घर पर सीबीआई पहुंची है. जानकारी के मुताबिक़ सीबीआई मनीष सिसोदिया के कहने पर ही उनका बयान दर्ज करने पहुंची है. सीबीआई ‘टॉक टू AK’प्रोग्राम के सिलसिले में लगे आरोपों की प्राथमिक जांच के सिलसिले में मनीष सिसोदिया का बयान लेने उनके घर पहुंची.

वहीं सीबीआई के पहुंचने के बाद आप नेताओं ने इसे छापेमारी बताया है.आपको बता दें कि दिल्ली सरकार के विजिलेंस डिपार्टमेंट ने LG को शिकायत की थी, बिना उचित टेंडर प्रक्रिया किए दिल्ली सरकार ने टॉक टू एके प्रोगाम का प्रमोशन एक विशेष कंपनी को दिया था. जिसके बाद एलजी ने इसे सीबीआई को रेफर किया था.

इससे पहले इसी साल 18 जनवरी को CBI ने इस केस में प्राथमिकी शिकायत दर्ज की थी, सीबीआई इसी मामले में पूछताछ के लिए पहुंची थी. हालांकि अभी इस मामले में कोई एफआईआर दर्ज नहीं की गई है.

मनीष सिसोदिया के सलाहकार अरुंदोय प्रकाश ने ट्वीट कर कहा कि एक ओर जहां मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अस्पतालों की जांच कर ररहे हैं, वहीं दूसरी ओर सीबीआई ने उपमुख्यमंत्री के घर रेड मार दी है. इससे पहले भी केजरीवाल के घर छापेमारी की गई थी. लेकिन अगर केंद्र को लगता है कि ऐसा करने से मनीष सिसोदिया डर जाएंगे, तो यह बिल्कुल गलत है.

टॉक टू Ak जुलाई 2016 में आयोजित किया गया था. यह कार्यक्रम पीएम मोदी के मन की बात की तर्ज दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की जन की बात था. इसमें दिल्ली के आम लोगों के सवालों का जवाब दिया था. आरोप यह है कि नियमों को ताक पर रखकर एक कंपनी को प्रचार का ठेका दिया गया. दिल्ली सरकार के प्रचार विभाग के प्रमुख भी मनीष सिसोदिया ही हैं. फाइनेंस मिनिस्टर भी यही हैं, सो इस कार्यक्रम को करवाने की जिम्मेदारी भी उन्हीं पर थी. इस कार्यक्रम में करीब डेढ़ करोड़ रुपये का खर्च आया था.