सेक्सुअल हरासमेंट: मुझे किसी का डर नहीं – कंगना

नई दिल्ली, (प्रवीण कुमार) : बॉलीवुड की क्‍वीन कंगना रनौत उन अभिनेत्रियों में गिनी जाती है जो अपने दम पर खुद की फिल्‍मों को हिट कराना जानती हैं। इसके अलावा बॉलीवुड में कंगना को बेबाक अंदाज तो हमने कई बार देखा है लेकिन इस बार जो कंगना ने किया उसको देखकर आप कहेंगे कंगना को किसी का डर नहीं. आपको बता दें कि करण जौहर के टॉक शो कॉफी विद करणमें करण का ही बैंड बजाने वाली कंगना एक बार फिर से सुर्खियों में आ गई हैं.

हर बार करण ही अपने शो में मेहमानों से उनके राज जानने की कोशिश करते है और उनका बैंड बजाने का भी लेकिन इस बार कंगना अपने खास दोस्त विकास बहल पर लगे यौन शोषण के मामले को लेकर सुर्खियों में हैं. एक फंक्शन के दौरान कंगना से पूछा गया कि इस पूरे मसले पर कंगना के क्या विचार है तो फिर क्या था कंगना ने बेबाक अंदाज में अपने विचार रखतें हुए कहा कि-ये एक सीरियस इश्यू है और किसी भी लड़की के लिए इस पर बात करना बहुत ही बहादुरी की बात है.कंगना आगे कहती है कि हर कहानी के दो पहलू होते हैं. लेकिन लोगों को इस पर बात करनी चाहिए. चाहे वह गलत हो या सही. बता दें कि कंगना और विकास ने महिला केंद्रित फिल्म में काम किया था.

हाल ही में कंगना और फिल्म निर्माता करण जौहर के बीच विवाद देखने को मिला था. क्योंकि उन्होंने करण को बॉलीवुड में नेपोटिज्म (भाई भतीजावाद) फैलाने का जिम्मेदार माना था. जिसपर करण जौहर ने कहा था कि कंगना भाई-भतीजा वाद शब्द का सही मतलब नहीं समझी हैं.

फिलहाल कंगना रनौत फिल्म रानी लक्ष्मीबाई के लिए खास तैयारी कर रही है और वह इस रोल को जीवंत बनाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती. इसलिए फिल्म की शूटिंग शुरू होने से पहले उन्होंने इस कैरेक्टर के लिए अभी से तैयारी शुरू कर दी है.

आजकल कंगना घुड़सवारी सीख रही हैं. ये रोल कंगना के लिए काफी चैलेंजिग होने वाले है लेकिन कंगना को आता है अपने चैलेंज से कैसे बाहर निकले. कंगना ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा था कि शूट होने से पहले रिहर्सल के लिए वर्कशॉप करेंगे. उन्होंने कहा कि वह हर छोटी से छोटी चीज पर काम करना चाहती हैं. जैसे एक बच्चे को पीठ पर बांधकर साड़ी में कैसे घुड़सवारी की जा सकती है.

मुंह में घोड़े की लगाम पकड़कर दो तलवारों के साथ कैसे लड़ा जाएगा. पर्दे पर कुछ भी नकली नहीं लगाना चाहिए. फिल्म की शूटिंग शुरू होने से पहले इन सब चीजों पर काम जरूरी हैं. कंगना का कहना है कि स्क्रीन पर उनका कैरेक्टर जीवंत लगना चाहिए है.