बदलते मौसम के इंफेक्शन से ऐसे बचाएं खुद को

नई दिल्ली, (राज लक्ष्मी मल्ल) : बदलते मौसम का मानव शरीर के इम्युनिटी सिस्टम (प्रतिरोधक क्षमता) पर सर्वाधिक प्रभाव होता है. जब हमारा इम्यून सिस्टम कमजोर हो जाता है, तब शरीर किसी भी तरह के इंफेक्शन से लड़ने में असर्मथ हो जाता है. नतीजा, हम बार-बार बीमार पड़ने लगते हैं, लेकिन हम कुछ बातों पर ध्यान दें, तो हमारा इम्यून सिस्टम स्ट्रॉन्ग हो जाएगा और हमारा शरीर इंफेक्शन से लड़ने में सक्षम हो जाएगा.

लक्षण
बदलते मौसम में एलर्जिक और वायरल संक्रमण का खतरा काफी बढ़ जाता है. सुबह व शाम की ठंड और दिनभर गर्मी के इस मौसमी बदलाव में सामान्य बुखार, जुकाम, खांसी और किसी भी प्रकार के फ्लू इसके प्रमुख लक्षणों में से हैं. वायरल, ब्रोनकाइटिस, डायरिया, सांस लेने में परेशानी और गला खराब होना इस मौसम में आम है. ऐसे मौसम में डायबिटीज या क्रोनिक बीमारी के मरीज, छोटे बच्चे, बूढ़े व्यक्ति और गर्भवती महिलाओं को अपना खास ख्याल रखने की ज़रूरत है.

क्या खाए इस मौसम में – 

  • लिक्विड डाइट जैसे छाछ, नींबू पानी, फलों या सब्जियों का रस और पर्याप्त मात्रा में पानी पीएं.
  • लिक्विड डाइट शरीर में मौजूद विषैले तत्वों को बाहर निकाल देते हैं.
  • पौष्टिक आहार लें और बाहर के खाने से परहेज करें.
  • जहां तक संभव हो, ठंडी चीजों को खाने से बचें. साबुत अनाज, हरी सब्जियां, फलियां और दालें अधिक मात्रा में खाएं.
  • भोजन में एंजाइम्स विटामिन्स और मिनरल्स से भरपूर खाद्य पदार्थ जरूर शामिल करें. गेहूं, ज्वार, बाजरा, मक्का जैसे अनाज खाएं.
  • भोजन के साथ सलाद का उपयोग अधिक से अधिक करें. आंवला, नीबू, संतरा और मौसमी जैसे फलों का सेवन करें.

इस्तेमाल करें यें उपाय – 

  • पानी की पर्याप्त मात्रा लें. प्रचुर मात्रा में पानी का सेवन किडनी की कार्यप्रणाली को चुस्त-दुरस्त रखने और शरीर से विषैले पदार्थों को बाहर निकालने के लिए बहुत जरूरी होता है.
  • इम्युनिटी को बेहतर बनाने में संपूर्ण और संतुलित आहार, जिसमें फल, सब्जियां, अनाज और दूसरे आवश्यक पोषक तत्व संतुलित मात्रा में होनी चाहिए.
  • ब्रोकोली, ब्रसेल्स स्प्राउट्स, गोभी आदि सब्जियां एक प्रकार के कैमिकल का उत्पादन करती हैं, जो कैंसर कोशिकाओं के विकास को रोकने और आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने में आपकी मदद करती हैं.
  • इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने के लिए आसपास के वातावरण को साफ रखना बहुत जरूरी होता है, क्योंकि गंदगी के कारण संक्रमण की चपेट में आने का खतरा बढ़ जाता है.
  • फल और सब्जियों को खाने और पकाने से पहले अच्छी तरह से धो लें. खाना बनाने और खाने से पहले अपने हाथों को अच्छी तरह साफ करें. इसके अलावा अपने शरीर और कपड़ों की साफ-सफाई का भी विशेष ख्याल रखें. तनाव से बचें, क्योंकि तनाव से पाचन तंत्र प्रभावित होने के कारण इम्यून सिस्टम कमजोर होने लगता है.
  • एक्सरसाइज, योग व प्राणायाम व्यक्ति को शारीरिक रूप से स्वस्थ और मानसिक रूप से संतुलित बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं.
  • अधिक वसा वाला आहार हमारे इम्यून सिस्टम को कमजोर बनाता है, लेकिन अपने भोजन में सही वसा का सेवन जरूर करें. यह इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने में आपकी मदद करता है. जिंक ऐसा मिनरल है, जो एंटीबॉडीस, टी-सेल्स व सफेद रक्त कणों में बढ़ोत्तरी कर इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है.