गोरखपुर में 30 बच्चों की मौत के बाद चढ़ा सियासी पारा, लगेगा नेताओं का जमघट

gorakhpur

नई दिल्ली। गोरखपुर में एक सरकारी अस्पताल में हुए हादसे से 30 बच्चों की मौत से पूरा प्रदेश सन्न हो गया है। बच्चों की मौत के मामले पर राजनीति गर्माने का दौर शुरू हो गया है। कांग्रेस की तरफ से 4 वरिष्ठ नेताओं आज गोरखपुर का दौरा करेंगे। जिसमें गुलाम नबी आजाद, राज बब्बर, प्रमोद तिवारी और संजय सिंह का नाम शामिल है।

इसके अलावा स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह और चिकित्सा शिक्षा के मंत्री आशुतोष टंडन का भी दौरा गोरखपुर में हैं। गोरखपुर का दौरा करने के बाद सीएम योगी को घटना की पूरी जानकारी की रिपोर्ट सौपेंगे।

क्या है मामला

मामला, गोरखपुर के बीआरडी मेडिलक कॉलेज का है। जहां 13 बच्चे एनएनयू वार्ड और 17 बच्चे इंसेफेलाइटिस वार्ड में भर्ती थी। बताया जा रहा है कि जो कंपनी अस्पताल को ऑक्सीजन की सप्लाई करती है उसका 69 लाख रुपये बकाया था। कंपनी ने देर रात ऑक्सीजन की सप्लाई बंद कर दी जिसके चलते ये बड़ा हादसा हुआ।

जानकारी के मुताबिक अस्पताल में बच्चों की मौत का सिलसिला पिछले 5 दिन से चल रहा था लेकिन प्रशासन कान में रुई डाले ऐशगाहों में आराम फरमा रहा था। घटना के दिन के चार दिन पहले तक में 30 और बच्चों की मौत हो चुकी थी। यानी की अस्पताल में पिछले 5 दिनों में 60 बच्चों की मौत हो चुकी है। कांग्रेस ने इस घटना के बाबत योगी सरकार के मंत्रियों का इस्तीफा मांगा है।