चंडीगढ़ छेड़छाड़ मामला: देश में महिला सुरक्षा पर ज्ञान देने वालों आज क्यों बोलती बंद है

bjp-state-president-subhash-brala-son-charged-for-molestation

नई दिल्ली:  हरियाणा कैडर के सीनियर आईएएस की 24 वर्षीय बेटी का पीछा करने और छेड़छाड़ के आरोप में चंडीगढ़ पुलिस ने हरियाणा भाजपा अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे विकास बराला और उसके दोस्त आशीष कुमार को गिरफ्तार किया है। पीड़ित युवती के साथ छेड़छाड़ की यह वारदात बीच सड़क पर हुई है जिसने पुलिस और प्रशासन के नियम कायदों की पोल खोल कर रख दी है. इस घटना के बाद पीड़ित युवती बुरी तरह से आहात बताई जा रही है.

सेक्टर -26 थाना पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार करके इनके खिलाफ आईपीसी की धारा 354 डी (छेड़छाड़), 341 (रास्ता रोकने की कोशिश) और मोटर व्हीकल एक्ट की धारा 185 के तहत मामला दर्ज किया है। आरोपियों की (एचआर-23 जी 1008) सफारी गाड़ी भी जब्त कर ली गई है लेकिन इन लोगों के ऊपर बलात्कार या फिर हत्या की कोशिश जैसी कोई भी धरा नहीं लगाई गयी है जबकि युवती ने अपने बयान में साफ़ तौर पर कहा है कि अगर पुलिस नहीं आती तो आरोपी मेरा रेप और हत्या कर देते.

छेड़छाड़ से आहत लड़की ने इस घटना के बाद कहा कि मैं शुक्रगुजार हूं, अगर पुलिस न आती तो बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष का बेटा मेरा रेप कर देता। मेरी हत्या भी हो सकती थी, बहुत ही खौफ से भरे ​थे वो 45 मिनट। लड़की ने बताया कि मैं कार दौड़ाती रही और वो मेरा पीछा करते रहे। 45 मिनट तक सांस सूखी रही, मेरे साथ रेप या मेरी हत्या हो सकती थी।

लेकिन इसे क़ानून व्यवस्था की कमजोरी ही कहिए क्योंकि इस मामले पर केस दर्ज हुआ और आरोपियों को जमानत भी मिल गई। पीड़िता हरियाणा के आईएएस की बेटी थी और आरोपी हरियाणा बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला का बेटा विकास बराला और उसका दोस्त आशीष। रसूख के दम पर लड़कियों से छेड़छाड़ के बाद आरोपी आसानी से जेल से बाहर निकल आते हैं और फिर से ऐसी घटनाओं को अंजाम देते हैं लेकिन पुलिस और प्रशासन मौन व्रत धारण कर लेता है.

इस घटना ने महिला सुरक्षा के मुद्दे पर बड़ी-बड़ी बातें करने वालों के मुंह पर ताला लगा दिया है. जानकारी के मुताबिक आरोपी कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी में एलएलबी के छात्र हैं। पुलिस के मुताबिक शुक्रवार रात 12 बजे पुलिस के कंट्रोल रूम में पीड़िता ने सूचना दी कि दो युवक सेक्टर सात से उसका पीछा कर रहे हैं। सूचना मिलते ही थाना पुलिस और पीसीआर वैन ने चंडीगढ़ के हाउसिंग बोर्ड के पास से आरोपियों को दबोच लिया।