अब एयर इंडिया की फ्लाइट्स में नहीं मिलेगा नॉन-वेज, इस कारण लिया ये फैसला

नई दिल्ली : मंगलवार को संसद की विशेष समिति की बैठक में कुछ फैसले लिए गए है, जिसमें एक फैसला यह है कि एयर इंडिया अपने यात्रियों को नॉन-वेज नही परोसेगी, अब केवल शाकाहारी भोजन परोसने के फैसला लिया है. जी हां, सरकार ने कहा कि एयर इंडिया की घरेलू उड़ानों की केवल इकोनॉमी श्रेणी में ही मांसाहारी भोजन बंद किया गया है.

एयरलाइन एयर इंडिया घरेलू उड़ानों में यात्रियों को नॉन-वेज न परोसने के अपने फैसले से इयरली 8 से 10 करोड़ रुपये बचा सकेगी.

इस फैसले की जानकारी नागर विमानन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा ने एक सवाल के लिखित जवाब में राज्यसभा में दी. उन्होंने बताया कि मांसाहारी भोजन एयर इंडिया की घरेलू उड़ानों की केवल इकोनॉमी श्रेणी में ही बंद किया गया है.

सिन्हा ने कहा कि इसकी शुरुआत लागत में कमी लाने, खर्च को कम करने, सेवा में सुधार तथा भोजन की क्वालिटी ठीक रहे इसलिए यह फैसला लिया गया है. इतना ही नही उन्होंने कहा कि लागत कम करने के लिए कई उपाय किए गए हैं.

ऑफिसर्स ने दावा किया था कि लागत घटाने के उपायों के तहत ऐसा किया गया है. सरकारी विमानन कंपनी ने एक बयान में कहा था कि इस कदम से बर्बादी और कॉस्ट घटाने में मदद मिलेगी और कैटरिंग सर्विसेज में सुधार आएगा.

एयर इंडिया ने इसके लिए अपने यात्रियों को परोसे जाने वाले भोजन में बदलाव करते हुए अब केवल शाकाहारी भोजन परोसने के फैसला लिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *