जज-मुजरिम 22 को बॉक्स ऑफिस पर आमने-सामने

judge-and-criminal-will-be-in-front

मुंबई। अभिनेता संजय दत्त और उन्हें छह साल जेल की सजा सुनाने वाले न्यायाधीश रिटायर्ड जज पीडी कोडे की फिल्में एक ही दिन 22 सितंबर को रिलीज हो रही हैं। फरवरी 2016 में जेल से रिहाई के बाद संजय फिल्म भूमि से कमबैक कर रहे हैं, वहीं इसी दिन जस्टिस कोडे भी निर्माता-निर्देशक शैलेंद्र पांडे की फिल्म जेडी में एक न्यायाधीश के ही किरदार में नजर आएंगे।

जस्टिस कोडे ने 2006-07 में 1993 के मुंबई बम विस्फोटों के मामले में टाडा अदालत के तहत ऐतिहासिक फैसले सुनाए थे। इस मामले में 100 से ज्यादा दोषी पाए गए थे और एक दर्जन अपराधियों को फांसी की सजा सुनाई गई थी। विस्फोटों के बाद हुए मुंबई दंगों में गैर कानूनी ढंग से एके-56 राइफल रखने का केस संजय दत्त पर चला था। उनके दोषी साबित होने पर जस्टिस कोडे ने दत्त को छह साल कैद की सजा सुनाई थी।

जस्टिस कोडे ने फैसला सुनाते हुए संजय दत्त से कहा था, ‘तुम 100 साल की उम्र तक ऐक्टिंग करो। मैंने तुम्हारी जिंदगी के सिर्फ छह साल लिए हैं।’ यह संयोग है कि जिस दिन संजय दत्त नई फिल्मी पारी शुरू कर रहे हैं, उसी दिन जस्टिस कोडे भी पहली बार फिल्मी पर्दे पर नजर आएंगे।

judge-and-criminal-will-be-in-front

फोटो जर्नलिस्ट शैलेंद्र पांडे की फिल्म जेडी के लिए जस्टिस कोडे ने मई 2015 में गोरेगांव फिल्म सिटी, मुंबई में शूटिंग की थी। जेडी जय द्विवेदी (ललित बिष्ट) नाम के पत्रकार की कहानी है। शैलेंद्र पांडे के अनुसार, ‘जेडी का मुंबई में कुछ वर्षों पहले अंडरवर्ल्ड की गोलियों का शिकार हुए पत्रकार जेडे से कोई संबंध नहीं है।’

फिल्म ऐसे पत्रकार की कहानी सामने लाती है जो अपने करिअर में सफलता की सीढ़ियां चढ़ता है मगर जब कुछ राजनेताओं का पर्दाफाश करना चाहता है तो मुश्किल में फंस जाता है। जस्टिस कोडे फिल्म में जेडी के केस की सुनवाई करते और फैसला सुनाते नजर आएंगे। अमन वर्मा जेडी के वकील के सशक्त किरदार में हैं। रीयल लाइफ राजनेता अमर सिंह और सीनियर ऐक्टर गोविंद नामदेव प्रतिद्वंद्वी नेताओं की भूमिका निभा रहे हैं।