पुलिस रिमांड में राम-रहीम की हनीप्रीत ने आखिर खोल ही दिया राज़

gurmeet-singh-daughter-opens-uu-police-remand

हरियाणा पुलिस की रिमांड में मौजूद ढोंगी बाबा गुरमीत राम रहीम की सबसे बड़ी राज़दार हनीप्रीत ने चौंकाने वाले खुलासे किए हैं. आपको बता दें कि पुलिस के हत्थे चढ़ चुकी हनीप्रीत ने शुरुआत में तो अपने गुनाहों पर पर्दा डालने की खूब कोशिश की लेकिन सख्ती से पेश आने के बाद हनीप्रीत ने चौंकाने वाला खुलासा किया है.

आपको बता दें कि 25 अगस्त के दिन राम रहीम को पुलिस के चंगुल से छुड़ाने का एक बड़ा प्लान तैयार किया गया था. जिसके तहत उसे छुड़वाकर विदेश भेज दिया जाता. ये खुलासा हनीप्रीत ने किया है. गुरमीत राम रहीम की करीबी हनीप्रीत ने हरियाणा पुलिस के सामने कई बड़े राज खोले हैं जिनमें से एक राज़ ये भी था.

हनीप्रीत ने बताया कि बीते 25 अगस्त को पुलिस की गिरफ्त से राम रहीम को छुड़वाने के बाद विदेश भेजने की तैयारी थी. हालांकि, हरियाणा पुलिस की मुस्तैदी के चलते यह प्लान कामयाब नहीं हो पाया. राम रहीम को उम्मीद थी कि सुरक्षाकर्मी उसे पुलिस की गिरफ्त से छुड़वा लेंगे. फिर उसे सिरसा डेरा मुख्यालय या किसी सुरक्षित पहुंचा दिया जाएगा. हनीप्रीत उसे विदेश भगाने की पूरी तैयारी कर चुकी थी. वह विदेश में बैठे बाबा के करीबियों के संपर्क में थी. हनीप्रीत पर तीन विदेशी सिम कार्ड इस्तेमाल करने का आरोप भी है.

बता दें कि सिरसा डेरे में स्थित गुफा में जो फिंगरप्रिंट स्कैनर लगा हुआ है वो सिर्फ बाबा या फिर हनीप्रीत की उँगलियों से खोला जा सकता है इन दोनों के अलावा कोई तीसरा व्यक्ति इस गुफा में दाखिल नहीं हो सकता है.

CID रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि 28 अगस्त की रात को हनीप्रीत दो बड़े सूटकेस लेकर वहां से निकली थी. जांच में पता चला है कि पंचकूला हिंसा फैलाने के लिए काले धन का इस्तेमाल हुआ था. इसी बीच हरियाणा पुलिस ने राजस्थान के गुरुसर मोडिया से कुछ अहम दस्तावेज भी बरामद किए है.