Tata Docomo की छुट्टी, Airtel ने किया टेलीसर्विसेज का अधिग्रहण

tata-merger-with-airtel

टेलीकॉम कंपनी टाटा टेलीसर्विसेज का विलय भारती एयरटेल में होगा. जी हां, टाटा ने अपने वायरलेस मोबाइल बिजनेस को एयरटेल टेलीकॉम के साथ मर्ज कर सकते है. बता दें कि एन चंद्रशेखरन जल्द ही टाटा टेलीकॉम को बेचने की घोषणा कर सकते हैं. खबरों के मुताबिक यह फैसला टाटा टेलीसर्विसेज के घाटे में चलने की वजह से लिया जा रहा है.

खबरों के मुताबिक सुनील भारती मित्तल के साथ लंबी बातचीत के बाद यह डील फाइनल हुई है. इतना ही नही खबरों की माने तो यह बातचीत बीते पिछले 4 महीनों से चल रही थी. अब यह क्लियर हो गया है कि टाटा टेलीसर्विसेस अपना वायरलेस मोबाइल बिजनेस भारती एयरटेल को बेचने जा रही है.

Read More : पानी में गिरे स्मार्टफोन का ऐसे करें बचाव

खबरों की माने तो इन दोनों कंपनियों के बीच हुए इस बड़े सौदे के मुताबिक टाटा टेलीसर्विसेस अपने 4 करोड़ मोबाइल यूजर्स के साथ अपना पूरा वायरलेस बिजनेस, कैश फ्री और डेट फ्री सब भारतीय टेलीकॉम कंपनी एयरटेल को ट्रांसफर सौप देगी. इस मर्जर के तहत टाटा CMB के सभी ऐसेट और कस्टमर्स भारती एयरटेल के हो जाएंगे. इसके अलावा भारती एयरटेल को इससे स्पेक्ट्रम का भी फायदा होगा और अब कंपनी के पास 178.5 MHz स्पेक्ट्रम होंगे.

आपको बता दें कि मौजूदा समय में टाटा टेली के पास 19 सर्किलों में 800, 1800 और 2100 मेगाहर्ट्स (3जी, 4जी) बैंड में 180 मेगाहर्ट्स स्पेक्ट्रम है. भारती एयरटेल, टाटा संस, टीटीएसएल व टीटीएमएल के बोर्डों ने इस सौदे को मंजूरी दे दी है.