विवादित सीडी मामले में कोर्ट ने खारिज की विनोद वर्मा की ज़मानत याचिका

court rejects bail plea of journalist vinod verma

विवादित सीडी मामले में फंसे वरिष्ठ पत्रकार विनोद वर्मा के लिए परिस्थितियां अब और भी खराब हो चुकी हैं. दरअसल सीडी कांड में पत्रकार विनोद वर्मा की जमानत याचिका कोर्ट ने खारिज कर दी है। मामले की सुनवाई में करीब एक घंटे तक चली बहस में वर्मा की ओर से सुदीप श्रीवास्तव और फैजल रिजवी ने अपनी दलीलें रखीं। दोनों वकीलों का कहना था कि आरोपी वरिष्ठ पत्रकार हैं इसलिए उन्हें जमानत देने में कोई आपत्ति नहीं होनी चाहिए। बचाव पक्ष के वकील ने जमानत का विरोध करतो हुए कहा कि वर्मा एक पार्टी से जुड़े हैं। इसलिए जांच को प्रभावित कर सकते हैं। अभी सीडी की जांच रिपोर्ट नहीं आई है। इसलिए जमानत नहीं मिलनी चाहिए।

बता दें कि मामले में जेएमएफसी भावेश बट्टी की अदालत में पुलिस डायरी और जमानत आवेदन पर जवाब के साथ पुलिस पेश हुई। पंडरी थाने में दर्ज इस मामले में गाजियाबाद से गिरफ्तार विनोद वर्मा 13 नवंबर तक सेंट्रल जेल में बंद हैं।

Read Also: कहीं पब्लिसिटी स्टंट तो नहीं उर्वशी रौतेला का Twitter हैक हो जाना

बता दें कि जब पत्रकार विनोद वर्मा को गाज़ियाबाद से गिरफ्तार किया गया था तब उन्होंने मीडिया से कहा था कि उन्हें फंसाया जा रहा है. विनोद वर्मा ने कहा था कि उनके पास छत्तीसगढ़ के मंत्री राजेश मूणत का वीडियो है। इसलिए छत्तीसगढ़ सरकार मुझसे खुश नहीं है। वर्मा ने कहा था कि मेरे पास एक पेन ड्राइव है, सीडी के साथ मेरा कोई लेना देना नहीं है।