रिहाई के बाद दिखे हाफ़िज़ सईद के बगावती तेवर, कश्मीर को लेकर ये बोला

foreign news hafiz saeed releaved from house arrest

भारत में हुए 26/11 हमलों के मास्टर माइंड हाफ़िज़ सईद पर पाकिस्तान में लगाईं गयी नजरबंदी अब हटा ली गयी है जिसके बाद एक बार फिर से भारत और कश्मीर को लेकर हाफ़िज़ ने बगावती तेवर दिखाए हैं. अपनी रिहाई के कुछ वक्त बाद ही आतंक के इस आका ने कहा कि वह कश्मीर के लिए पूरे पाकिस्तान से लोगों को जुटाएगा और ‘‘आजादी’’ पाने में कश्मीरियों की मदद करेगा.

बता दें की हाज़िज़ सईद पर आतंकी गतिविधियों में शामिल होने की वजह से अमेरिका ने एक करोड़ डॉलर का इनाम घोषित किया है. गौरतलब है कि पाकिस्तान सरकार ने मुंबई हमला मामले में सईद को और अधिक दिनों तक हिरासत में नहीं रखने का फैसला लिया, जिसके बाद आतंकवादी संगठन के प्रमुख को रिहा कर दिया गया. वह इस वर्ष जनवरी से हिरासत में था.

आतंक के आका की रिहाई से भारत में आक्रोश देखने को मिल रहा है, जिस तरह रिहाई के बाद हाफ़िज़ फिर से कश्मीर की रिहाई की बात कर रहा है उससे ये साफ़ हो गया है कि भारत को लेकर वह ज़रूर कोई साज़िश रच रहा है. ऐसे में पाकिस्तान सरकार को इस बात से की फर्क पड़ता हुआ नहीं दिखाई दे रहा है. मुंबई में हुए हमलो के बाद से भारत हाफ़िज़ सईद का जमकर विरोध कर रहा है इसके बाद भी पाकिस्तान सरकार के कानों पर जूं नहीं रेंग रही हैं.

Read More on Foreign News: रिहा होने जा रहा है आतंक का आका हाफ़िज़ सईद, खौफ में पाकिस्तान

रिहाई की खुशी में अपने आवास के बाहर एकत्र हुए समर्थकों से सईद ने कहा, ‘‘मुझे सिर्फ कश्मीर पर मेरी आवाज को दबाने के लिए 10 महीने तक हिरासत में रखा गया.’’ पंजाब प्रांत के न्यायिक समीक्षा बोर्ड ने सईद की 30 दिनों की नजरबंदी की अवधि पूरी होने के बाद आम सहमति से उसकी रिहाई का आदेश दिया. इस बोर्ड में लाहौर हाई कोर्ट के न्यायाधीश भी शामिल हैं। सईद की नजरबंदी गुरुवार को रात 12 बजे समाप्त हुई है.

अपनी रिहाई के बाद हाफ़िज़ ने भारत के खिलाफ जमकर आग उगली है और वो कश्मीर को भारत से आज़ाद करवाना चाहता है. ऐसे में अब भारत किसी भी अनवांछित खतरे से लड़ने के लिए पूरी तरह से तैयार है क्योंकि अपनी रिहाई के बाद हाफ़िज़ अब कश्मीर को लेकर कोई नई चाल चलने की तैयारी कर रहा है लेकिन भारत ने पहले से ही आतंक के आका को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए कमर कस रखी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *