सुरक्षा में भारी लापरवाही, दो रूपये के सिक्के से रोक लेते थे ट्रेन

hindi news/ crime news/ train robbary/ surujpur/ ncr

ट्रेन में लूट-पाट की घटनाओं पर लगाम लगाने के लिए सूरजपुर और रेलवे पुलिस ने संयुक्त रूप से अभियान चलाकर ट्रेन में लूट को अंजाम देने वाले गिरोह को धर-दबोचा है. इस गिरोह के पकड़ में आने के बाद एक और बड़ा खुलासा हुआ है जिसे जानकर ट्रेन में सफ़र करने वाले सभी यात्रियों में खौफ है.

सूरजपुर और रेलवे पुलिस के इस संयुक्त अभियान में पकड़े गये गिरोह के सदस्यों ने पूँछतांछ में बताया है कि जब कोई ट्रेन आती थी तो उसे रोकने के लिए दो रूपये के सिक्के का इस्तेमाल किया जाता था जिससे सिग्नल लाल कर दिया जाता था और सिग्नल लाल होने के बाद जब ट्रेन रूकती तब ये बदमाश ट्रेन में चढ़ जाते थे और हथियारों के दम पर ट्रेन के यात्रियों से लूटपाट करते थे.

बदमाश ट्रेन की पटरी के बीच दो रुपये का सिक्का डाल कर अर्थिंग के जरिए हरे सिग्नल को लाल कर देते थे और ट्रेन चालक खतरा समझ कर ट्रेन को रोक देता था। जानकारी के मुताबिक़ इस गिरोह में आठ सदस्य हैं जो लगातार लूट को अंजाम देते रहे हैं. इन बदमाशों में से तीन बदमाशों को कुछ दिनों पहले रामपुर पुलिस ने गिरफ्तार किया था, अब दो को ग्रेटर नोएडा में पकड़ा गया है।

Read More on Hindi News: प्रद्दुम्न मर्डर केस में आरोपी बोला, CBI ने ज़बरदस्ती करके आरोप क़ुबूल कराया

सीओ प्रथम अमित किशोर श्रीवास्तव ने बताया कि बदमाश लगातार दिल्ली-हावड़ा रूट व मुरादाबाद रूट पर ट्रेनों में घुसकर लूटपाट की घटनाओं को अंजाम दे रहे थे। दादरी-अलीगढ़ रूट बदमाशों का साफ्ट टारगेट था। शिकायत के आधार पर पुलिस ने इन रूट पर लगे सीसीटीवी फुटेज खंगाले।

फुटेज की मदद से एक बदमाश की पहचान हो गई। सोमवार रात भी बदमाश तिलपता कंटेनर डिपो के समीप एकत्र हुए थे और दादरी-अलीगढ़ रूट पर ट्रेन में यात्रियों से लूट की योजना थी।

बदमाशों के पास से तमंचा, दो रुपये का सिक्का बरामद किया गया है। पुलिस ने बताया कि सभी बदमाश एक ही गांव के रहने वाले हैं।

पुलिस ने बताया कि जब कोई ट्रेन पटरी से गुजरती है तो कुछ देर के लिए पटरी के जोड़ के बीच थोड़ी सी जगह बन जाती है। इसमें रबड़ आ जाती है। मौका पाकर बदमाश पटरी के बीच में दो रुपये का सिक्का डाल देते थे। सिक्का डालते ही रबड़ भी बीच से हट जाती थी।

Share Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *