अब रेलवे ने भी शुरू की जुमलेबाज़ी, काम के नाम पर यात्रियों से धोखा

railway

भारतीय रेलवे इन दिनों ट्रेनों में किये जाने वाले वाले बदलाव और यात्रियों को सफर के दौरान दिए जाने वाले सुविधाओं की वजह से सुर्खियों में बना हुआ है. लेकिन रेलवे जितने भी प्लान्स बना रहा है या फिर उसे शुरू कर रहा है सभी के सभी प्लान्स फेल होते नजर आ रहे है. ऐसे में एक बार फिर से रेलवे ने 13 शताब्दियों और 11 राजधानी ट्रेनों में बदलाव करने जा रहा है.

जी हां, रेलवे के इस प्लान के तहत इन ट्रेनों में टॉयलेट बिना किसी रिमोट के नहीं खुलेगा. इसके अलावा वाईफाई सहित कई अत्याधुनिक सुविधाएं भी दी जाएंगी.

इतना ही नही रेलवे ने बदलाव से पहले इन ट्रेनों में ऐंटी डस्ट कोटिंग की गई है. जिस कारण ट्रेनों के वॉल पर कुछ लिख पाना अब मुश्किल है. इसके अलावा रिमोट के जरिए टॉयलेट बंद रहेगा.

टॉयलेट के डोर जब तक नहीं खुलेंगे जब तक ट्रेन नहीं चलेगी. इसके अलावा टॉयलेट में नई मैट लगाई है. इनमें रूम फ्रेशनर्स भी होगा. वहीं सीट पर हेड कवर दिए जाएंगे. सामान रखने वाली जगह पर नई कोटिंग की गई है. सीट नंबर ब्रेल लिपी से भी लिखा होगा. ट्रेन में वाई-फ्राई की सुविधा भी दी गई है.

ये भी पढ़ें: ध्यान दें: ये हैं वो ट्रेनें जिनके 1 नवंबर से बदल जाएंगे समय और नंबर

साथ ही ट्रेन के अंदर पेंटिंग लगाई गई हैं. रेलवे की पूरी कोशिश ये है कि ट्रेन पूरे सफर के दौरान साफ सुथरी रहे. अब देखना ये है कि इतना सब बदलाव करने के बाद यात्रियों को ये सुविधा सच में अच्छे से मिल पायेगी या पहले की तरह की रेलवे के ये प्लान्स भी फुस हो जायेंगे.