जागरूकता के लिए डीएम की पद-यात्रा

dmएक तरफ चम्पारण सत्याग्रह शताब्दी वर्ष को लेकर देशभर में विभिन्न आयोजन हो रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ चम्पारण में ही स्वच्छता अभियान और दहेजबंदी व बाल विवाह उन्मूलन के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए जिला पदाधिकारी ने करीब सौ किलोमीटर की पदयात्रा की. 23 दिसम्बर को पूर्वी चम्पारण के सदर प्रखंड के चंद्रहियां स्थित गांधी आश्रम से जिलाधिकारी का कारवां चला, जो आठ प्रखंडों के सौ गांवों से होते हुए केसरिया बौद्ध स्तूप के पास रात्री चौपाल के बाद समाप्त हुआ.

इस तीन दिवसीय जागरूकता पदयात्रा में जिले के कई पदाधिकारी, जनप्रतिनिधि और बड़ी संख्या में आम लोगों ने भाग लिया. इस यात्रा के दौरान डीएम ने पहाड़पुर, संग्रामपुर और केसरिया में रात्री चौपाल लगाई. रात्री विश्राम के दौरान डीएम ने जमीन पर बिछाए गए पुआल के बिस्तर पर रात गुजारी और साग रोटी भी खाई. गौर करने वाली बात यह है कि इस पदयात्रा में जिला पदाधिकरी रमण कुमार की पत्नी और बच्चे भी साथ थे. यात्रा की शुरुआत में ही जिलाधिकारी के पैर जख्मी हो गए, बावजूद इसके डीएम रमण कुमार ने लाठी का सहारा लिया और सौ किलोमीटर की अपनी यात्रा पूरी की.

पदयात्रा के समापन के बाद डीएम रमण कुमार ने अपने अनुभवों को साझा किया. उन्होंने बताया कि यह आश्चर्य की बात है कि महिलाओं का खुले में शौच जाना पुरुषों की चिंता में शामिल नहीं है. महिलाओं की सुरक्षा व स्वास्थ्य के लिए पुरुषों को सोचना होगा. जिलाधिकारी ने बताया कि इस यात्रा में उन्हें जिले के कई अधिकारियों, जनप्रतिनिधियों सहित आम लोगों का भरपूर साथ मिला.

उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय स्वच्छता अभियान व लोहिया स्वच्छता मिशन के तहत पूरे राज्य को खुले में शौच से मुक्त बनाने के लिए अभियान चलाया जा रहा है. इस जिले में यह अभियान चम्पारण के रण के नाम से चल रहा है. इस अभियान के तहत चल रही गतिविधियों की जानकारी लोगों के पास मीडिया और सोशल मीडिया के माध्यम से पहुंचाई जा रही है.

इसके लिए प्रशासनिक स्तर पर बेहतर कार्यों के लिए जिला पदाधिकारी ने अपने अधिकारियों को शाबासी दी और कहा कि कई अधिकारियों ने अपनी छुट्‌टी का त्याग कर इस मिशन में स्वेच्छा से साथ योगदान दिया है. इस अभियान में सक्रिय सहयोग के लिए डीएम ने डीडीसी अखिलेश कुमार सिंह, एसडीओ अरेराज विजय कुमार पांडेय, चकिया के चित्रगुप्त प्रसाद, डीआरडीए के निदेशक प्रमोद कुमार, श्रम अधीक्षक दीवाकर कुमार सिंह सहित अन्य अधिकारियों की मुक्त कंठ से प्रशंसा की. उन्होंने पंचायती राज के जनप्रतिनिधियों सहित आम जनों का भी आभार व्यक्त किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *