आधार कार्ड हुआ पुराना अब आया वर्चुअल आईडी का ज़माना

government rules change from new year

देश में आधार कार्ड को लेकर काफी लम्बे समय से शोर मचा हुआ है. बता दें सरकार फिलहाल सरकारी सेवाओं से आधार को लिंक करवाना अनिवार्य कर चुकी है. इसमें हर भारतीय नागरिक को अपने आधार को सिम कार्ड, बैंक खातों और अन्य योजनाओं से लिंक करवाना ही पड़ेगा. लेकिन अब आधार डाटा की सुरक्षा को मजबूत करने के लिए आधार अथॉरिटी यूआईडीएआई ने पुख्ता इंतजाम कर लिया है. कुछ ही समय में आपको हर जगह बिना आधार दी ही वर्चुअल आईडी की मदद से अपने सभी काम कर सकते हैं.

वर्चुअल आईडी की सुविधा 1 मार्च से मिलनी शुरू हो जाएगी. हालांकि 1 जून से सभी एजेसियों के लिए अनिवार्य हो जाएगा कि वह वर्चुअल आईडी को स्वीकार करें. आगे हम आपको बता रहे हैं कि कैसे वर्चुअल आईडी काम करेगा और कैसे आप इसे खुद ही जनरेट कर पाएंगे.

दरअसल आधार वर्चुअल आईडी भी आधार कार्ड की तरह ही काम करती है, जहाँ आधार कार्ड में 12 अंक होते हैं वहीँ वर्चुअल आईडी 16 अंको की होगी. वर्चुअल आईडी को आप अनगिनत बार जनरेट कर सकेंगे. यह आईडी सिर्फ कुछ समय के लिए ही वैध रहेगी. इससे इस आईडी का गलत इस्तेमाल होने की आशंका न के बराबर होगी.

वर्चुअल आईडी को आप खुद जनरेट कर सकेंगे. इसके लिए आपको यूआईडीएआई की वेबसाइट पर जाना होगा. यहां एक नया टैब आ सकता है, जिसके जरिये आप हर काम के लिए एक नया वर्चुअल आईडी जनरेट कर सकेंगे.

Read Also: किसने पार्टी के ओबीसी एमपी और कार्यकर्ता का अपमान किया

वर्चुअल आईडी जनरेट करने के बाद आपको जहां भी अपनी आधार डिटेल देनी है, वहां इस आईडी को देना होगा. जैसे ही आप इस आईडी को सामने वाले को देंगे, तो वह इसकी मदद से आधार से जुड़ा काम निपटा सकेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *