एच1-बी वीजा में बदलाव नहीं करेगा अमेरिका, भारतीयों के लिए बड़ी राहत


डोलाल्ड ट्रम्प के अमेरिका के राष्ट्रपति बनते ही एच1-बी वीजा में बदलाव की जिस संभावना को लेकर चिंता जताई जा रही थी, वो चिंता अब दूर हो चुकी है. अमेरिका में रह रहे भारतीय पेशेवर अब राहत की सांस ले सकते हैं. ट्रम्प प्रशासन की तरफ से कहा गया है कि वे किसी भी ऐसे बदलाव पर विचार नहीं करे हैं, जो एच1-बी वीजाधारकों को देश छोड़ने पर मजबूर करता हो.

बीते कुछ हफ्तों से ऐसी अटकलें तेज हो गई थीं कि अमेरिका एच-1बी वीजा के विस्तार को रोकने के लिए नए नियमों पर विचार कर रहा है. ऐसा होने पर वहां रह रहे भारतीयों को अमेरिका छोड़ने को मजबूर होना पड़ता. लेकिन अब ऐसी सभी अटकलों को अमेरिका की तरफ से खारिज कर दिया गया है. अमेरिकी नागरिकता एवं आव्रजन सेवा यूएससीआईएस के मीडिया संपर्क के प्रमुख जोनाथन विथिंगटन ने कहा है कि यूएससीआईएस अपने नियामक बदलावों पर विचार नहीं कर रही है, जो एच1-बी वीजा धारकों को अमेरिका छोड़ने पर मजबूर करता हो. उन्होंने कहा कि हम अपने एसी-21 की धारा 104(सी) की भाषा में कोई बदलाव नहीं कर रहे हैं, जिसके अंतर्गत इसकी अवधि छह वर्ष से भी ज्यादा बढ़ाई जा सकती है.

जोनाथन विथिंगटन ने यह भी कहा कि वीजा नियमों में बदलाव के बाद भी एच1बी वीजाधारकों को अमेरिका छोड़ने पर मजबूर नहीं होना पड़ता, क्योंकि कर्मचारी एसी-21 की धारा 106(ए)-(बी) के तहत इसमें एक साल के विस्तार का अनुरोध कर सकते थे. उन्होंने कहा कि यूएससीआईसी ने कभी भी ऐसे नीतिगत बदलाव पर विचार ही नहीं किया और यह सोचना पूरी तरह गलत है कि किसी भी दबाव की वजह से यूएससीआईसी ने अपनी स्थिति बदली है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *