मुख्य सचिव के साथ बदसलूकी मामले में केजरीवाल के सलाहकार हिरासत में


दिल्ली के मुख्य सचिव के साथ बदसलूकी के मामले में विधायक प्रकाश जरवाल के बाद अब मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सलाहकार वीके जैन को भी पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. मुख्य सचिव अंशु प्रकाश ने पुलिस में शिकायत की थी कि सीएम आवास पर हुई बैठक में शामिल होने के लिए वीके जैन ने ही फोन किया था. इससे पहले इस मामले में विधायक प्रकाश जरवाल को उनके देवली स्थित आवास से पुलिस ने हिरासत में लिया था. इस मामले में मुख्य सचिव की शिकायत पर अमानतुल्लाह खान सहित कई और लोगों के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज की गई है.

इधर इस मामले में आरोपी आम आदमी पार्टी के विधायकों ने भी अधिकारियों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है. देवली से विधायक प्रकाश जरवाल और अंबेडकरनगर से विधायक अजय दत्त ने दिल्ली पुलिस तथा राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग में इन आरोपों के साथ शिकयत दर्ज कराई है कि मुख्य सचिव ने उनपर जातिसूचक टिप्पणियां की थीं.

आम आदमी पार्टी ने भी इस मामले में अपने विधायकों का बचाव किया है. पार्टी की तरफ से कहा गया है कि मुख्य सचिव की जवाबदेही को लेकर उनकी गलतबयानी के कारण केवल जुबानी तकरार हुई थी. पार्टी प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने मुख्य सचिव के साथ विधायकों की तकरार को सही बताते हुए कहा कि बैठक में जो कुछ भी हुआ वह मुख्य सचिव की गलत बयानी का नतीजा था. मुख्य सचिव से जब राशन वितरण की व्यवस्था में खामियों के कारण लोगों को हो रही परेशानी के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने कहा कि उनकी जवाबदेही विधायकों या सरकार के प्रति नहीं बल्कि उपराज्यपाल के प्रति है. उनके इस जवाब पर बैठक में मौजूद विधायकों ने नाराजगी जताई, लेकिन किसी ने भी उनके साथ मारपीट नहीं की, यह आरोप गलत है.