पद्मावत ने दीपिका को ऐसे बनाया क्वीन


नई दिल्ली (प्रवीण कुमार): काफी विरोध झेलने के बाद दीपिका पादुकोण की फिल्म पद्मावत देश-विदेश में रिलीज हुई. फिल्म ने महज चार दिनों में ही सौ करोड़ का कारोबार कर लिया. अब भी यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर अच्छा प्रर्दशन कर रही है. इस फिल्म के सौ करोड़ क्लब में एंट्री के साथ ही दीपिका बॉलीवुड की नंबर एक अभिनेत्री बन चुकी हैं. पद्मावत दीपिका के करियर की सातवी ऐसी फिल्म है, जो सौ करोड़ क्लब का हिस्सा बनी है. इस फिल्म ने महज चार दिनों में ही 125 करोड़ से ज्यादा का कारोबार कर दीपिका को बॉलीवुड की क्वीन बना दिया है. फिल्म ने तेजी से एक सप्ताह में 155 करोड़ से ज्यादा का कारोबार किया था. इतना ही नहीं फिल्म बॉक्स ऑफिस पर अपना तीसरा सप्ताह पूरा कर रही है और पद्मावत ने अब तक 250*+ करोड़ से ज्यादा का कारोबार कर चुकी है. यह दीपिका पादुकोण के करियर की अब तक सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्म भी बन चुकी है. ऐसा तब है जब भारत के कई राज्यों में विरोध के कारण फिल्म रिलीज नहीं हो सकी है. ऐसे में फिल्म की कमाई को देखा जाए, तो दर्शकों ने ऐसे लोगों के मुंह पर जोर का तमाचा लगाया है जो फिल्म का विरोध कर रहे थे और लोगों से अपील कर रहे थे कि भंसाली की फिल्म पद्मावत न देखें. लेकिन दर्शकों ने उनकी इस अपील को अनसुना कर दिया.

फिल्म की सफलता से दीपिका काफी खुश हैं. दीपिका से पहले करीना कपूर ही एक ऐसी अभिनेत्री थीं, जिन्होंने बॉलीवुड को सबसे ज्यादा सौ करोड़ की फिल्में दी थीं. करीना कपूर ने अपने करियर में यह कारनाम 6 बार किया, उनके बाद नंबर है, कैटरीना कैफ का, जिनकी 5 फिल्में सौ करोड़ क्लब का हिस्सा हैं. हालांकि इस साल आने वाली कैटरीना की दो फिल्में आमिर खान के साथ ठग्स ऑफ हिंदोस्तान और शाहरुख खान के साथ जीरो अगर सौ करोड़ क्लब का हिस्सा बनती हैं, तो वे भी इस मामले में दीपिका की बराबरी कर लेंगी.

दीपिका पादुकोण ने 2007 में बॉलीवुड के किंग खान यानि शाहरुख खान के साथ फिल्म ओम शांति ओम से अपने करियर की शुरुआत की थी. उस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर लगभग 80 करोड़ का कारोबार किया था और उस साल की ब्लॉकबस्टर रही थी. उसके बाद से फिल्म निर्माताओं ने दीपिका को हाथों हाथ लेना शुरू कर दिया. उस फिल्म के बाद दीपिका ने कई सुपरहिट फिल्में की, जिनमें लव आज कल, हाउसफुल, गोलियों की रासलीलाः राम-लीला, रेस-2, ये जवानी है दीवानी, हैप्पी न्यू ईयर, चेन्नई एक्सप्रेस, पीकू, बाजीराव मस्तानी और पद्मावत शामिल हैं.

फिल्म पद्मावत की रिलीज के बाद से ही दीपिका पादुकोण, रणवीर सिंह और शाहिद कपूर इस फिल्म की सफलता को सेलिब्रेट कर रहे हैं. एक तरफ जहां करणी सेना द्वारा किए गए विरोध ने फिल्म को मुश्किल में डाल दिया था, वहीं दूसरी ओर फिल्म की रिलीज होने से पहले और बाद में पूरी फिल्म इंडस्ट्री डायरेक्टर संजय लीला भंसाली के समर्थन में खड़ी हो गई थी. खैर फिल्म किसी तरह से लगभग पूरे देश और विदेश में रिलीज हुई और इसने बॉक्स ऑफिस पर रिकॉर्ड तोड़ पैसा कमाना शुरू कर दिया. फिल्म को दर्शकों की ओर से काफी तारीफें मिल रही हैं. इसमें राजपूतों की आन, बान और शान को प्रमुखता से दिखाया गया है. जिन लोगों ने यह फिल्म देखी, बिना तारीफ किए नहीं रह सके. दर्शकों की प्रतिक्रिया देखकर साफ नजर आ रहा है कि आने वाले दिनों में फिल्म की कमाई असानी से दो सौ करोड़ के पार पहुंच जाएगी.
पद्मावत दुनिया भर में रिकॉर्डतोड़ कमाई कर रही है. यह फिल्म भारत के अलावा यूएई और न्यूजीलैंड के बॉक्स ऑफिस पर भी पहले नंबर पर बनी हुई है. इसके अलावा कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, यूएसए और यूके के बॉक्स ऑफिस पर भी पद्मावत का जलवा बरकरार है.

दीपिका ने कहा कि हम जौहर का महिमामंडन नहीं कर रहे- फिल्म पद्मावत की रिलीज के बाद से ही दीपिका पादुकोण, रणवीर सिंह और शाहिद कपूर इस फिल्म की सफलता को सेलिब्रेट कर रहे हैं. इस फिल्म पर विवाद होने के बाद पूरी फिल्म इंडस्ट्री भंसाली के समर्थन में खड़ी हो गई थी. लेकिन कुछ लोग ऐसे भी हैं, जिन्होंने फिल्म में दिखाए गए जौहर के दृश्य पर कड़ी आपत्ति दर्ज कराई. इस मुद्दे पर दीपिका ने भी अब अपनी राय रखी है. फिल्म में जौहर केे दृश्य को लेकर मीडिया से बात करते हुए दीपिका ने कहा कि न तो वे खुद और न ही फिल्म निर्माता जौहर की प्रथा का समर्थन करते हैं. उन्होंने कहा कि फिल्म में इस सीन को केवल इस तरह देखा जाना चाहिए कि यह इतिहास पर बनी फिल्म है और उस समय जौहर की प्रथा का चलन था, इसीलिए इस सीन को रखा जाना जरूरी था. उन्होंने यह भी कहा कि फिल्म का यह सीन काफी मजबूत है, क्योंकि इसमें उनका कैरक्टर एक बार फिर उसी व्यक्ति में मिलता दिखाया गया है, जिससे वो प्यार करती हैं. दीपिका ने कहा कि दर्शक फिल्म के आखिरी सीन को काफी पसंद कर रहे हैं और इसकी प्रशंसा में थिएटर्स में खड़े होकर तालियां भी बजा रहे हैं. कुल मिलाकर दीपिका फिल्म को मिली सफलता से काफी खुश और उत्साहित हैं.

विरोध प्रदर्शन को भंसाली ने बताया तर्कहीन और बेहूदा- संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत भारी विवाद के बाद 25 जनवरी को रिलीज हुई. भले ही फिल्म को सिनेमाघरों तक पहुंचने में कई मुश्किलों का सामना करना पड़ा हो, लेकिन जैसे ही फिल्म थिएटर तक पहुंची, वैसे ही इसने रिकॉर्ड तोड़ कमाई शुरू कर दिया. इस पर भंसाली ने कहा कि पद्मावत को दर्शकों से मिली अभूतपूर्व प्रतिक्रिया ही इस फिल्म के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों के लिए उनका जवाब है. फिल्म की रिलीज को लेकर जिस परेशानी का उन्हें सामना करना पड़ा उसके बारे में उन्होंने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि वे बहुत परेशान हुए, लेकिन इस पूरे घटनाक्रम पर कोई प्रतिक्रिया देने के बजाए उन्होंने पूरा ध्यान अच्छी से अच्छी फिल्म बनाने पर दिया.
इंटरव्यू में भंसाली ने कहा, यह उस व्यथा का जवाब है जिससे हम सब, मैं, अभिनेता और टेकनीशियन गुजरे हैं. हममें से किसी को भी नहीं सुना गया, जबकि हमने बार-बार कहा कि फिल्म में कुछ भी गलत नहीं है. मैंने महसूस किया कि आगे बढ़ने और इससे लड़ने का सबसे अच्छा तरीका है ऐसी फिल्म बनाना जो मेरे मस्तिष्क में है. भंसाली ने कहा कि उन्हें और अभिनेत्री दीपिका पादुकोण को मिली धमकियों की थाह लेना उनके लिए मुश्किल था. उन्होंने कहा, प्रदर्शक तर्कहीन थे, विवेकहीन थे और उनके बारे में चर्चा करने जैसा कुछ नहीं था. ये उतने घृणित स्तर पर पहुंच गए थे जिसमें लोग तलवार लिए राष्ट्रीय टेलीविजन पर बैठे दिख रहे थे और मौत की धमकी दे रहे थे… अगर मैं टीवी पर हर एक चैनल पर जाकर यह कहता कि फिल्म में कुछ भी गलत नहीं है, तब भी वे इसे नहीं समझते. चाहे कितनी भी बार इसे न्यायोचित बताया जाए, यह उन तक नहीं पहुंचेगा, नहीं सुना जाएगा.  मैंने कभी नहीं देखा या सुना है कि कोई फिल्मकार इन सब से गुजरा और उबरा हो. फिल्म थियेटरों में पहुंची और उसे दर्शकों का प्यार मिला. जो भी कुछ कहा गया या हुआ, उससे फिल्म और खास बन गई.

स्वरा भास्कर को शाहिद कपूर ने दिया करारा जवाब- फिल्म पद्मावत के कारण अब एक इसे लेकर बहस शुरू हो गई है कि क्या फिल्म में प्रतिबंधित जौहर प्रथा का महिमामंडन किया गया है. इस बहस के बीच, फिल्म में महाराजा रावल रतन सिंह का किरदार निभाने वाले अभिनेता शाहिद कपूर ने कहा है कि उस दौर को ध्यान में रखते हुए यह फिल्म देखनी चाहिए जिस दौर में जौहर प्रथा थी. दर्शकों का एक वर्ग यह कहते हुए इसकी आलोचना कर रहा है कि भंसाली ने जौहर प्रथा वाले हिस्से को बेहद नाटकीय ढंग से पेश किया है.
यह बहस तब शुरू हुई जब अभिनेत्री स्वरा भास्कर ने इस फिल्म के निर्देशक के नाम खुला पत्र लिखा. वह पत्र सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. पत्र में स्वरा ने लिखा कि पद्मावत देखने के बाद उन्हें ऐसा महसूस हुआ कि वह एक वेजाइना तक सिमट कर रह गई हैं. कई दर्शकों के मुताबिक, इस प्रथा को जश्न के रूप में प्रस्तुत किया गया. इस बारे में पूछने पर शाहिद ने एक साक्षात्कार में कहा कि इस फिल्म को 13वीं सदी के संदर्भ में देखने की जरूरत है. शाहिद ने कहा, याद कीजिए जौहर के दृश्य से ठीक पहले क्या हुआ था? राजा की मौत हो गई थी. ऐसे में, जब राजा की मौत हो गई तो जश्न कैसे मनाया जा सकता है? उन्होंने आगे कहा, हर प्रथा के पीछे कई कारण होते हैं. पद्मावती ने खुद को आग के हवाले कर दिया, क्योंकि वह नहीं चाहती थीं कि उस दुष्ट व्यक्ति के हाथ लगें, जो एक महिला को पाने की खातिर पूरे साम्राज्य को खत्म करने को तैयार है.प

अमिताभ बच्चन ने दिया रणवीर को अवॉर्ड – अभिनेता रणवीर सिंह इन दिनों फिल्म पद्मावत की सफलता का जश्न मना रहे हैं. भारी विवाद के बाद फिल्म रिलीज हुई. फिल्म में सभी स्टार्स के परफॉर्मेंस की जमकर तारीफ हो रही है. खासकर फिल्म में अलाउद्दीन खिलजी के रूप में नेगेटिव किरदार निभाने वाले रणवीर सिंह सबकी तारीफें बटोर रहे हैं. फिल्म को रिलीज हुए सिर्फ 5 ही दिन हुए थे और रणवीर को अपनी बेहतरीन परफॉर्मेंस के लिए अवॉर्ड भी मिल गया.
चौंकिए नहीं, रणवीर को यह अवॉर्ड किसी सेरेमनी में नहीं, बल्कि बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन की ओर से दिया गया है. आमतौर पर जब भी अमिताभ बच्चन को किसी स्टार्स की परफॉर्मेंस पसंद आती है तो वे उन्हें अपने हाथ से लिखा हुआ पत्र भेजकर शुभकामनाएं देते हैं. पद्मावत में बिग बी को रणवीर का किरदार इतना पसंद आया कि वे उनकी तारीफ करने से खुद को रोक नहीं पाए. रणवीर ने ट्विटर पर इसकी जानकारी दी. अमिताभ बच्चन के पत्र और उनके द्वारा भेजे गए बुके की तस्वीर साझा करते हुए रणवीर सिंह ने लिखा- मुझे मेरा अवॉर्ड मिल गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *