दिल्ली: CBSE पेपर लीक मामले में SIT का गठन, पुलिस ने शुरू की छापेमारी

cbse paper leak crime branch sit handling case

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) की 10वीं के गणित और 12वीं के अर्थशास्त्र के परीक्षा लीक मामले में दिल्ली ने जांच तेज़ कर दी है और अब वो जगह जगह छापेमारी भी कर रही है. बता दें कि छापेमारी की यह कार्रवाई दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने दिल्ली के साथ-साथ एनसीआर के भी कई इलाकों में की है. छापेमारी के दौरान पुलिस के हाथ कई सुराग भी लगे हैं जिनके बारे में जल्द ही पुलिस की तरफ से खुलासा किया जा सकता है.

छापेमारी के अलावा पुलिस ने लगभग दो दर्जन से अधिक लोगों से पूछतांछ भी की है जिससे इस मामले की जड़ तक पहुंचा जा सके. पेपर लीक मामले में क्राइम ब्रांच की एसआईटी गठित की गयी है जो इस मामले की जांच करने के लिए अपना जोर लगा रही है.

एसआईटी को संयुक्त आयुक्त आलोक कुमार लीड कर रहे हैं. CBSE ने दिल्ली पुलिस को दी गई अपनी शिकायत में कहा है कि उसके पास 23 मार्च को फैक्स के जरिये पेपर लीक की जानकारी मिली थी. शिकायत के मुताबिक, 23 मार्च को फैक्स में बताया गया था कि पेपर लीक के पीछे राजेंद्र नागर नाम का शख्स है जो एक कोचिंग सेंटर चलाता है.

Read Also: नोएडा: छात्रा के सुसाइड मामले में पुलिस ने जब्त की नोटबुक

इससे पहले मंगलवार शाम को 12वीं कक्षा के अर्थशास्त्र विषय के प्रश्न-पत्र लीक होने का मामला सामने आया था फिर बुधवार को दर्ज दूसरे मामले में 10वीं के गणित विषय के प्रश्न-पत्र लीक का मामला था. 12वीं की अर्थशास्त्र की परीक्षा 26 मार्च को, जबकि 10वीं की गणित की परीक्षा बुधवार को हुई थी.

पेपर लीक मामला सामने आने के बाद अब CBSE 10वीं के गणित और 12वीं के अर्थशास्त्र की परीक्षा दोबारा लेगा. CBSE के इस फैसले के बाद छात्रों और उनके अभिभावकों का गुस्सा सातवें आसमान पर है क्योंकि उनके बच्चों ने जो मेहनत की थी वो बर्बाद चली गयी और अब एक बार फिर से उन्हें मेहनत करके परिक्षा देनी पड़ेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *