अल्पसंख्यकों को निशाना बना रही पाक सेना

Share Article

पाकिस्तान के सामाजिक कार्यकर्ता और फ्री कराची अभियान के प्रवक्ता नदीम नुसरत ने पाक सेना पर गंभीर आरोप लगाए हैं. उन्होंने आरोप लगाया है कि पाक सेना जिहादियों की मदद से अल्पसंख्यकों की हत्या करा रही है. उन्होंने यह भी कहा है कि कुछ दशकों से सेना में कट्टरपंथी तत्व बढ़े हैं. पाकिस्तान सेना जिहादियों की मदद से अल्पसंख्यकों और एक्टिविस्टों पर हमले कराने में लगी है.

उन्होंने कहा कि भारत के साथ पाक सेना के रिश्ते अच्छे नहीं रहे हैं. अगर भविष्य में भारत-पाक के रिश्तों में सुधार होता है तो सेना को अपना अस्तित्व बचाना भी मुश्किल हो जाएगा. उन्होंने यह भी कहा कि इसीलिए पाक सेना हमेशा देश की राजनीति में दखल देती रहती है, ताकि दोनों देशों के बीच रिश्ते कभी सामान्य नहीं हो सकें.

नुसरत ने यह भी कहा कि पाकिस्तान में सेना ही देश के नियमों-कानूनों को तय करती है. नुसरत ने कहा कि पाकिस्तान में सेना और खुफिया एजेंसी आईएसआई मिलकर कट्टरपंथी तत्वों को बढ़ावा देने में लगी है. आतंकी हमलों की साजिश रची जाती है और उसे अंजाम देने के लिए तमाम मदद उपलब्ध कराई जाती है. पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के लिए बेहतर माहौल नहीं है. यहां अन्य धर्मों के लोगों को परेशान किया जाता है.

Share Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *