39 भारतीयों की हत्या के मामले से देश का ध्यान भटका रही BJP: राहुल गांधी

Share Article

rahul gandhi tweet on killing of 39 indians in mosul

कैंब्रिज एनालिटिका-फेसबुक डेटा चोरी मामले में अब भारत में भी बवाल मचना शुरू हो गया है, लेकिन इस बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के एक ट्वीट ने राजनीतिक माहौल और गर्म कर दिया है. दरअसल राहुल गांधी के मुताबिक़ भारतीय जनता पार्टी ईराक के मोसूल में मारे गये 39 भारतीय नागरिकों के मामले से देश की जनता का ध्यान भटकाना चाहती है और इसी वजह से वो फेसबुक मामले को टूल दे रही है.

राहुल गांधी ने बीजेपी को आड़े हाथ लेते हुए गुरुवार को ट्वीट किया था जिसमें उन्होंने लिखा था कि,

समस्याः 39 भारतीयों की मौत; सरकार बैकफुट पर, झूठ बोलते हुए पकड़ी गई

समाधानः कांग्रेस और डेटा चोरी को लेकर कहानी गढ़ो

परिणामः मीडिया नेटवर्क्स के बीच बाइट की होड़, 39 भारतीय रडार से गायब

समस्या हल हो गई.

राहुल गांधी के ट्वीट के बाद भारतीय जनता पार्टी के नेता जीवीएल नरसिम्हा राव ने भी ट्वीट कर राहुल गांधी पर पलटवार किया और कहा कि राहुल की अगुवाई वाली कांग्रेस पार्टी को 26 राज्यों में हार मिली है, और कर्नाटक के साथ 2019 के लोकसभा चुनावों में भी पार्टी की हार निश्चित है!

बता दें कि सबसे लोकप्रिय सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक पर 5 करोड़ फेसबुक यूजर्स की निजी जानकारी चुराने के आरोप लगे हैं. इन यूज़र्स की निजी जानकारी का इस्तेमाल अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव में डोनाल्ड ट्रम्प को जिताने के लिए किया गया था. इस मामले में बुधवार को केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कैंब्रिज एनालिटिका का कनेक्शन कांग्रेस से जोड़ते हुए कई आरोप लगाए थे. प्रसाद ने कहा कि कांग्रेस ने 2019 के चुनाव अभियान के लिए कैंब्रिज एनालिटिका की सेवा ली है.

Read Also: मफलरमैन से माफ़ीमैन बने केजरीवाल, अभी और चलेगा माफियों का दौर

इन आरोपों के बाद राहुल गांधी ने अपने ट्वीट से भारतीय जनता पार्टी पर आरोप लगाया है कि वो 39 भारतीयों की हत्या के मामले से देश का ध्यान भटकाना चाहते हैं और इसीलिए फेसबुक मामले में आरोप लगा रहे है, बता दें कि हाल ही में सदन में बोलते हुए केन्द्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने बताया था कि इराक में फंसे हुए सभी भारतीय नागरिकों की मोसूल में हत्या कर दी गयी थी, इस मामले के खुलने के बाद भारतीय जनता पार्टी की जमकर आलोचना की जा रही है.

You May also Like

Share Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *