ALERT: गलती से भी डाउनलोड ना करें WhatsApp का ये वर्जन

fake-Whatsapp

ऑनलाइन इंटरनेट के इस दौर में दुनिया भर में सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाला मैसेजिंग ऐप की अगर बात करें तो WhatsApp पहले नंबर पर आता है. जी हां, WhatsApp दुनिया भर में सबसे पॉपुलर मैसेजिंग एप है. लेकिन इन दिनों इंटरनेट की दुनिया में डाटा सेंधमारी और यूजर प्राइवेसी को लेकर परेशानी के दौर में है और ऐसा ही एक मामला व्हाट्सएप यूजर्स को परेशान कर सकता है.

खबरों के मुताबिक व्हाट्सएप का एक फेक वर्जन इंटरनेट पर वायरल हो रहा है. व्हाट्सएप के इस वर्जन का नाम व्हाट्सएप प्लस है. ये एक मैलिशियस (आपके डेटा को नुकसान पहुंचाने वाली) एप है जो यूजर के पर्सनल पर डेटा को कंट्रोल करने लगती है.

खास बात ये है कि ये एप्लिकेशन गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध नहीं है लेकिन इस एप का .apk लिंक इंटरनेट पर छाया हुआ है. ये एक फेक व्हाट्सएप वर्जन है जो Android/PUP.Riskware.Wtaspin.GB. जैसे मैलिशियस लिंक का ही हिस्सा है जिससे आपके डेटा को भारी नुकसान हो सकता है.

ये भी पढ़ें: जल्द ही बंद हो जाएगी Google ये सर्विस, आप भी जान लीजिए

जानकारी के लिए बता दें कि इस लिंक के जरिए एप को इंस्टॉल करने पर स्क्रीन पर गोल्डेन कलर के साथ व्हाट्सएप का लोगो नजर आएगा. इस पर एक ‘Agree and continue’ का विकल्प होगा जिस पर क्लिक करते ही ये आपको एप के नए अपडेट पेज पर ले जाएगा. इसके बाद इस फेक व्हाट्सएप के जरिए यूजर को एक डेटा के लिहाज से असुरक्षित पेज पर ले जाएगा. जहां अरबी भाषा में कुछ टेक्स्ट लिखे दिखाई देंगे. मैलवेयर बाइट्स ने साफ किया है कि ये एक असुरक्षित फेक एप है जिसके जरिए आपका डेटा बड़े जोखिम में पड़ सकता है.

ध्यान रहे इस तरह के फेक एप डाउनलोड करना आपको परेशानी में दाल सकता है. अगर आपसे गलती से डाउनलोड हो गया है तो इसे तुरंत अनइंस्टॉल करें.