वोडा और आइडिया के मर्जर से खतरे में कर्मचारियों की नौकरी

idea-and-vodafone

देश की दो मशहूर टेलिकॉम कंपनियां वोडाफोन और आइडिया सेल्युलर का मर्जर होकर जल्द ही एक हो जाएंगी. दो बड़ी कंपनियों के एक होने से कुछ टेलिकॉम कंपनियों पर ताले लटक गए और वही रिलायंस जियो को कांटे की टक्कर भी दे रही हैं. लेकिन इसने अपने मर्जर से ठीक पहले 5000 कर्मचारियों के बेरोजगार होने के संकेत भी दे दिए हैं.

गौरतलब है कि इन दोनों टेलिकॉम कंपनियों के बीच मर्जर प्रक्रिया अगले कुछ महीनों में पूरी हो सकती है और दोनों इस हो कर इंडस्ट्री में पहले से ज्यादा ताकतवर हो जाएगे.

खबरों की मानें तो इन दोनों कंपनियों के मर्जर के बाद जो नई कंपनी बनेगी उसमें कुल 21,000 कर्मचारी होंगे जिनमें से एक चौथाई को बाहर करने की तैयारियां चल रही हैं. ऐसे में अनुमान लगाया जा रहा है कि लगभग पांच हजार कर्मचारी अपनी नौकरी खो देंगे.

ये भी पढ़ें: कार में सामूहिक बलात्कार के आरोपी BSP नेता के बेटे और उसके दोस्त को जेल

कहा जा रहा है कि ये दोनों ही कंपनियां अपनी लागत को बचाने के लिए अपनी कर्मचारियों को नौकरी से निकाल रहे हैं. वही काम के दोहराव को खत्म करने और दक्षता में सुधार करने की कोशिश कर रही हैं. दोनों कंपनियों ने मिलकर फैसला किया है कि अब उन्हें इतने सारे कर्मचारियों की जरूरत नहीं है.

जानकारी के मुताबिक इन दोनों ही कंपनियों पर संयुक्त रूप से 1 लाख 20 हजार करोड़ का कर्जा है. इसी को देखते हुए इन दोनों कंपनियों के बीच विलय का प्रबंधन करने वाली नोडल टीम ने यह सलाह दी है कि अगले कुछ महीनों में कम से कम 5,000 कर्मचारियों की छुट्टी कर दी जाए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *