उपचुनाव: यूपी में हावी रहा ईवीएम टेंपरिंग का मुद्दा, मेघालय में सबसे ज्यादा वोट


लोकसभा की चार और विधानसभा की 10 सीटों के लिए आज देश के अलग-अलग हिस्सों में उपचुनाव हुए. इनमें कई हाई-प्रोफाइल सीटें भी हैं, जिनमें उत्तर प्रदेश की कैराना और महाराष्ट्र के पालघर की लोकसभा सीटें अहम हैं. इसके अलावा भंडारा गोंदिया और नगालैंड की एक-एक लोकसभा सीट पर भी मतदान हुआ. जिन 10 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव हुए उनमें कर्नाटक की राजराजेश्वरी, केरल की चेंगानूर, अलावा पंजाब की शाहकोट, उत्तर प्रदेश की नूरपुर, महाराष्ट्र की पलुस कादेगांव, बिहार की जोकीहट, झारखंड की गोमिया और सिल्ली, मेघालय की अंपति, उत्तराखंड की थराली और पश्चिम बंगाल की मेहेशतला सीट शामिल है.

कैराना सीट इसलिए भी अहम है क्योंकि यहां भाजपा के खिलाफ विपक्ष एकजुट होकर चुनाव लड़ रहा है. वहीं महाराष्ट्र के पालघर में भाजपा और शिवसेना आमने सामने हैं. कैराना और नूरपुर के कई बूथों से मतदान शुरू होने के साथ ही ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायतें मिलीं. इसके बाद विपक्षी खेमे के नेता सक्रिय हो गए और इसे लेकर शिकायत दर्ज कराई गई. कैराना लोकसभा सीट से आरएलडी उम्मीदवार तबस्सुम हसन ने ईवीएम में गड़बड़ी के खिलाफ चुनाव आयोग से शिकायत की है. वहीं सपा नेता राजेंद्र चौधरी ने ईवीएम टैंपरिंग का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि नूरपुर में 140 ईवीएम मशीनें खराब हुई हैं और इसी तरह की रिपोर्ट्स कैराना से भी आ रही हैं.

बाद में यह भी खबर आई कि मुस्लिम और दलित बहुल इलाकों में खराब हुई ईवीएम मशीनें नहीं बदली गई हैं. शामली के कैराना लोकसभा तथा बिजनौर के नूरपुर विधानसभा क्षेत्र से तो यह भी खबर आई कि इन इलाकों में दो सौ से अधिक ईवीएम में गड़बड़ी देखी गई. इसे लेकर सत्ताधारी पार्टी भाजपा ने भी शिकायत की. वहीं, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी इसे लेकर ट्विट किया और कहा कि शामली, कैराना, गंगोह, नकुड, थानाभवन और नूरपुर के लगभग 175 पोलिंग बूथों से इवीएम-वीवीपीटी मशीन के खराब होने की शिकायत तुरंत सुनी जाए. शाम पांच बजे तक के आंकड़ों पर गौर करें, तो सबसे ज्यादा 89.91 फीसदी मतदान मेघालय में दर्ज किया गया है, जबकि पश्चिम बंगाल की माहेशताला में 70.01 फीसदी मतदान हुआ, वहीं पंजाब के शाहकोट में 69 फीसदी लोगों ने मताधिकार का उपयोग किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *