असली तूफ़ान की वजह से Facebook पर भी आ गया तूफ़ान, लोग बोले हम सेफ हैं

safe-themselves

रविवार को देश के विभिन्न राज्यों में आए आंधी-तूफान ने काफी हंगामा मचाया है. जी हां, इस आंधी-तूफान में करीब 10 हजार लोगों ने खुद को सुरक्षित बताया है. दरअसल, सोशल मीडिया की सबसे पापुलर साइड फेसबुक ने सोमवार को ‘सेफ्टी चेक’ नाम का फीचर एक्टिवेट किया था. इसका इस्तेमाल कर हजारों यूजरों ने फेसबुक पर खुद को सुरक्षित बताया है.

बता दें उस दिन के आंधी-तूफान में कई जगहों पर हुई ओला वृष्टि में उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश, पश्चिम बंगाल और दिल्ली में कुल 53 लोगों की जान चली गई थी. इस बात की पुष्टि केंद्रीय गृह मंत्रालय ने की थी.

ऐसे में लोगों को सुरक्षित रखने के लिए फेसबुक ने क्राइसस रेस्पांस सेंटर बनाया है. इस सेंटर के सेफ्टी चेक टूल के जरिये फेसबुक यूजर अपने परिवार वालों व दोस्तों को आपदा के समय बता सकते हैं कि वे सुरक्षित हैं.

ये भी पढ़ें: अपने स्मार्टफोन से भी चेक कर सकते हैं EPFO अकाउंट बैलेंस

आपदा प्रभावित क्षेत्र के लोग यदि बड़ी संख्या में उससे जुड़ा पोस्ट करते हैं तो यह टूल एक्टिवेट हो जाता है. इसके जरिये यूजर भी पता लगा सकते हैं प्रभावित इलाके में उनके जो भी दोस्त रहते हैं वे सुरक्षित हैं या नहीं.

जानकारी के लिए बता दें कि फेसबुक के इस फीचर का इस्तेमाल कई देशों में आपदा और आंतकवादी हमले के दौरान किया जा चुका है. जो लोगों को एक-दूसरे से जोड़ें रखता है.