इन तरह के डैंड्रफ से बचने के लिए अपनाएं ये खास टिप्स

dandruff-hairs

लोगों में रूसी की समस्या आम हो गई है. हर दूसरा व्यक्ति इस समस्या से परेशान है, इससे न सिर्फ बालों की खूबसूरती कम होती है बल्कि खुजली व रूखेपन हो जाता है. साथ ही रुसी की वजह से बालों का झडऩा भी शुरू हो जाता है. गर्मी के मौसम में बालों में ड्राईनेस आ जाती है, जिससे रूसी, बालों का गिरना और दो मुंहे बालों का होना जैसी दिक्कतें हो जाती हैं.

बता दें कि रूसी यानी डैंड्रफ कई तरह के होते हैं, जो लोगों के परेशानी की वजह बनते हैं. तो आइयें जानते हैं आमतौर पर रुसी कितने तरह की हो सकती है.

  • सामान्य रूसी : इसका मतलब है आमतौर पर होने वाला डैंड्रफ, जो हर किसी को होता है. गर्मी हो या सर्दी, ऑयली डैंड्रफ वाले लोगों के स्कैल्प पर पसीना रहता ही है. इससे सिर की त्वचा से भी तेल निकलता है और ऑयली डैंड्रफ जैसी समस्या हो जाती है.

बचाव – इस समस्या से बचने के लिए बालों को एक दिन छोड़ कर धोना ज़रूरी है. इसके अलावा बालों में सप्ताह में एक बार नींबू के रस को सरसों के तेल में मिलाकर लगाएं. अगर बालों पर केमिकल ट्रीटमेंट लिया है तो पोनी के बालों को छोड़कर केवल स्कैल्प पर अरोमा ऑयल से मसाज करें.

  • ड्राई रूसी : इस तरह की रूसी अकसर बालों के ऊपर दिखाई देती है, जिससे सिर की त्वचा भी रूखी हो जाती है.

बचाव- ड्राई रूसी से बचाव के लिए बालों में आंवले का तेल लगा कर उसे दो घंटे के लिए छोड़ दें. उसके बाद तौलिए को गर्म पानी में भिगोकर लपेट लें. इससे बालों को स्टीम मिलती है और उन्हें सांस लेने में भी मदद मिलती है. इससे कुछ हद तक ड्राई रूसी की समस्या से निजात मिल सकती है.

ध्यान रखें- बालों को धोने के बाद उसे अच्छी तरह सुखाकर ही पोनी बनाएं. अगर बाल ज़रा भी गीले रह गए तो रूसी हो सकती है. कहीं जाने की जल्दी हो तो बालों को ड्रायर से सुखाकर ही निकलें. हर किसी के बालों का टेक्सचर अलग-अलग होता है, इसलिए विज्ञापन देख कर शैंपू न खरीदें. अपने बालों के टेक्सचर के अनुसार ही इसका चयन करें.

  • फिक्सी डैंड्रफ : यह रूसी अपने नाम की तरह ही जड़ों में फिक्स हो जाती है यानी जम जाती है और जब भी आप कंघी करती हैं तो यह कंधे के साथ बालों की सतह पर उभरकर आ जाती है। इस तरह की समस्या है तो जल्द ही किसी एक्सपर्ट से मिलें.
Share Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *