बिहार कांग्रेस को मिलेगा स्थायी अध्यक्ष

bihar-congress-gets-its-new-president

अन्य राजनीतिक दलों की भांति कांग्रेस 2019 की तैयारी में जुट गई है। दिल्ली में बिहार कांग्रेस पर जमकर मंथन हुआ। इस मंथन कार्यक्रम में कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी स्वंय मौजूद थे। इस कार्यक्रम में बिहार कांग्रेस के पदाधिकारियों और वरिष्ठ नेताओं को बुलाया गया था। राहुल ने लोकसभा चुनाव की तैयारियों के साथ ही प्रदेश के लिए पार्टी के स्थायी अध्यक्ष पर नेताओं की राय जानी।

बिहार कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं, विधायकों और पार्टी पदाधिकारियों के संग अलग-अलग बैठक कर राहुल ने नेताओं से कहा कि बिहार में राजद उनका स्वाभाविक सहयोगी है। लेकिन सीटों के बंटवारे में पार्टी नीतियों और सिद्धांतो से कोई समझौता नहीं करेगी। राहुल गांधी ने मिशन 2019 का बड़ा टास्क दिया। साथ ही इसमें किसी तरह की लापारवाही नहीं करने को कहा है।

उन्होंने कहा कि पार्टी को मजबूत करने के लिए चुनाव से बेहतर दूसरा कोई विकल्प नहीं हो सकता है। राहुल ने साफ कहा कि वे 2019 के लोकसभा चुनावों को लेकर गंभीर रहे तथा प्रत्याशियों व सीटों के चयन पर फोकस करें। इस दौरान राहुल ने बिहार के नेताओं को जरूरी सुझाव दिए। बैठक में चुनाव को लेकर सामाजिक समीकरणों पर भी चर्चा हुई। राहुल ने प्रदेश कांग्रेस के स्थायी अध्यक्ष पद की मांग पर नेताओं को भरोसा दिलाया कि इस संबंध में शीघ्र ही फैसला लिया जाएगा।