आखिर क्या हुआ ऐसा कि घोड़े पर चढ़कर दफ्तर पहुंचा सॉफ्टवेयर इंजीनियर

engineer-reached-office-riding-on-horse

ट्रैफिक कि समस्या खत्म ही नहीं हो रही है.  इससे बचने के लिए लोग अब घोड़े  पर सवार होकर यहाँ वहां जाने लगे है. बात सुनने में अटपटी ज़रूर है लेकिन सच्ची है. ये अजीबो गरीब घटना बेंगलुरु की है जहां एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर ट्रैफिक की समस्या से बचने के लिए घोड़े पर सवार होकर अपने ऑफिस पहुंचा।

रूपेश राजस्थान के पिलानी के रहने वाले हैं और बेंगलुरु के गार्डन सिटी में पिछले आठ सालों से काम कर रहे हैं। रूपेश का बतौर सॉफ्टवेयर इंजीनियर आखिरी दिन था. फॉर्मल कपड़े पहने, कंधे पर ऑफिस का बैग लटकाए रूपेश जिस घोड़े पर सावर होकर ऑफिस के लिए निकले उस पर एक तख्ती भी लगी हुई थी, जिसपर लिखा था बतौर इंजीनियर काम करने का यह मेरा आखिरी दिन है. (लास्ट वर्किंग डे एज सॉफ्टवेयर इंजीनियर).  रुपेश के इस अंदाज़ को देख कर लोग बहुत हैरान हुए और उन्होंने रुपेश कि फोटो खींची व वीडियो बना कर इसे सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया। देखते ही देखते यह पोस्ट वायरल हो गयी.

रुपेश ने अपने इंटरव्यू में बताया कि वो 8 सालों से बेंगलुरु में रह रहे है और वायु प्रदुषण से तंग आ गए है, सड़क पर बहुत सारी गाड़ियों की वजह से हर दिन ट्रैफिक जाम होता है. इस सिरदर्द से बचने के लिए मैने यह अनोखा तरीका निकाला। रूपेश ने अब अपने जॉब से रिटायरमेंट ले ली है और अब अपना स्‍टार्ट अप शुरू करने की योजना बना रहे हैं.