आर्म्स एक्ट में उन्नाव रेप में आरोपी विधायक के खिलाफ चार्जशीट दाखिल

charge sheet against unnao rape accused mla

उन्नाव रेप प्रकरण में सीबीआई ने शुक्रवार को तीसरी चार्जशीट कोर्ट में दाखिल की। आर्म्स एक्ट में दाखिल इस आरोप पत्र में भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर, माखी थाने के तत्कालीन एसओ अशोक सिंह भदौरिया, सब इंस्पेक्टर कामता प्रसाद सिंह, सिपाही आमिर खान, शैलेन्द्र सिंह उर्फ टिंकू, शशि सिंह उर्फ सुमन, विधायक का भाई अतुल सिंह सेंगर, विनीत मिश्र, वीरेन्द्र सिंह और रामशरण सिंह उर्फ सोनू शामिल हैं। सीबीआई विधायक समेत चार अन्य पर पीड़ता से रेप व पीड़िता के पिता की हत्या के मामले में भी आरोप पत्र दाखिल कर चुकी है।

सीबीआई ने 12 अप्रैल को उन्नाव रेप प्रकरण में अपने यहां मुकदमा दर्ज किया था। राजनीतिक गलियारों में भूचाल ला चुके इस मामले में सीबीआई ने कई लोगों के बयान दर्ज किये और उसे कई बार उन्नाव जाना पड़ा। उन्नाव के डाक बंगले में रुककर पीड़िता व ग्रामीणों के बयान हुये। सीबीआई ने 90 दिन में ही तीनों मामलों की चार्जशीट कोर्ट में दाखिल कर दी।

पीड़िता के पिता की जेल में मौत हो गई थी। पीड़िता ने आरोप लगाया था कि उसके पिता की विधायक की शह पर उसके भाई अतुल सिंह व उनके गुर्गों ने पिटाई की थी। अतुल के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की बजाये माखी थाने की पुलिस ने दबाव में पीड़िता के पिता के खिलाफ ही मारपीट की एफआईआर दर्ज कर ली थी। इतना ही नहीं उनके पास से फर्जी तरीके से तमंचा बरामद दिखा कर उन्हें घायल हालत में ही जेल भेज दिया गया था। सीबीआई ने अपनी जांच में पाया था कि पीड़िता के पिता के पास गलत तरीके से असलहे की बरामदगी दिखायी गई थी। इसके बाद ही सीबीआई ने इस मामले में मुकदमा दर्ज माखी थाने के तत्कालीन एसओ अशोक सिंह भदौरिया समेत तीन पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार किया था।

सीबीआई की इस कार्रवाई के बाद ही तीनों पुलिसकर्मियों को बर्खास्त कर दिया गया। ये तीनों पुलिस कर्मी इस समय जेल में है। इस सम्बन्ध में अभी उन्नाव की दो पूर्व एसपी के खिलाफ जांच चल रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *