मुजफ्फरपुर शेल्टर होम: बच्चियों ने सुनाई आपबीती, नेताजी रोज करते थे रेप

 

बिहार के मुजफ्फरपुर में हुए शेल्टर होम (बालिका गृह) रेप मामले में पीड़ित बच्चियों ने अपनी दर्द भरी दास्तां सुनाई है. उन्होंने न्यायिक मजिस्ट्रेट के सामने अपनी आपबीती सुनाई है. एक 10 साल की लड़की ने बताया, जैसे ही सूरज डूबता था, लड़कियां डरी हुई रहने लगती थीं. वे रातें आतंक से भरी हुई थीं.

 

एक 10 साल की बच्ची ने बताया कि उनके साथ हर रोज दुष्कर्म किया जाता था. लड़कियों ने इस मामले में दो लोगों के नाम लिए हैं, जिसमें से एक को वे ‘नेताजी’ और दूसरे को ‘हंटरवाला अंकल’ कह रही थीं. कहा जा रहा है कि जिन्हें नेताजी  बोला जा रहा है वे बिहार सरकार में एक मंत्री के पति हैं. वहीं ‘हंटरवाला अंकल’ बालिका गृह संचालक आरोपी ब्रजेश ठाकुर को कहा जा रहा है. पुलिस ने ब्रजेश को गिरफ्तार कर लिया है.

 

एक लड़की के बयान के मुताबिक, ‘हमें टॉर्चर किया जाता था, भूखा रखा जाता था, इंजेक्शन लगाए जाते थे. हर रात लड़कियों के साथ रेप होता था. अगर कोई लड़की बात नहीं मानती थी और विरोध करती थी, तो ‘हंटरवाला अंकल’ छड़ी से खूब पिटाई करता था. जैसे ही वह किसी के कमरे के आता था, तो सारी लड़कियां डर जाती थीं.

 

लड़कियों ने अपने साथ हो रहे दुष्कर्म की जानकारी वहां मौजूद बच्चियों की देखरेख के लिए रहने वाली किरण मैडम को बताया. लड़कियों ने बताया कि वह उनकी बात तक नहीं सुनती थी. लड़कियां जब उनसे बचाने की गुहार लगाती थीं, लेकिन वह कुछ नहीं करती थी. किरण सहित तीन महिलाओं को बालिका गृह में जिन्हें भी बच्चियों की देखरेख के लिए रखा गया था, इनकी भी गिरफ्तारी कर ली गई है.

 

साथ ही एक और लड़की ने बताया कि उसके साथ एनजीओ के लोगों ने और बाहरी लोगों ने कई बार रेप किया. वह कई दिनों तक चल नहीं पा रही थी. कई बार उसे बालिका गृह से बाहर भी ले जाते थे, लड़की को इस बारे में कोई जानकारी नहीं है कि वे लोग उसे कहां ले जाते थे. पुलिस इसकी भी पूछताछ आरोपियों से कर रही है.

बिहार के मुजफ्फरपुर में हुए शेल्टर होम (बालिका गृह) रेप मामले में पीड़ित बच्चियों ने अपनी दर्द भरी दास्तां सुनाई है. उन्होंने न्यायिक मजिस्ट्रेट के सामने अपनी आपबीती सुनाई है. एक 10 साल की लड़की ने बताया, जैसे ही सूरज डूबता था, लड़कियां डरी हुई रहने लगती थीं. वे रातें आतंक से भरी हुई थीं.

 

एक 10 साल की बच्ची ने बताया कि उनके साथ हर रोज दुष्कर्म किया जाता था. लड़कियों ने इस मामले में दो लोगों के नाम लिए हैं, जिसमें से एक को वे ‘नेताजी’ और दूसरे को ‘हंटरवाला अंकल’ कह रही थीं. कहा जा रहा है कि जिन्हें नेताजी  बोला जा रहा है वे बिहार सरकार में एक मंत्री के पति हैं. वहीं ‘हंटरवाला अंकल’ बालिका गृह संचालक आरोपी ब्रजेश ठाकुर को कहा जा रहा है. पुलिस ने ब्रजेश को गिरफ्तार कर लिया है.

 

एक लड़की के बयान के मुताबिक, ‘हमें टॉर्चर किया जाता था, भूखा रखा जाता था, इंजेक्शन लगाए जाते थे. हर रात लड़कियों के साथ रेप होता था. अगर कोई लड़की बात नहीं मानती थी और विरोध करती थी, तो ‘हंटरवाला अंकल’ छड़ी से खूब पिटाई करता था. जैसे ही वह किसी के कमरे के आता था, तो सारी लड़कियां डर जाती थीं.

 

लड़कियों ने अपने साथ हो रहे दुष्कर्म की जानकारी वहां मौजूद बच्चियों की देखरेख के लिए रहने वाली किरण मैडम को बताया. लड़कियों ने बताया कि वह उनकी बात तक नहीं सुनती थी. लड़कियां जब उनसे बचाने की गुहार लगाती थीं, लेकिन वह कुछ नहीं करती थी. किरण सहित तीन महिलाओं को बालिका गृह में जिन्हें भी बच्चियों की देखरेख के लिए रखा गया था, इनकी भी गिरफ्तारी कर ली गई है.

 

साथ ही एक और लड़की ने बताया कि उसके साथ एनजीओ के लोगों ने और बाहरी लोगों ने कई बार रेप किया. वह कई दिनों तक चल नहीं पा रही थी. कई बार उसे बालिका गृह से बाहर भी ले जाते थे, लड़की को इस बारे में कोई जानकारी नहीं है कि वे लोग उसे कहां ले जाते थे. पुलिस इसकी भी पूछताछ आरोपियों से कर रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *