पाकिस्तान में चुनावी शोर जोरों पर, रैलियों में हाफिज का कश्मीर राग


25 जुलाई को पाकिस्तान में आम चुनाव होने वाले हैं. विभिन्न दलों और नेताओं के साथ-साथ आतंकी और मुंबई हमले का मास्टरमाइंड हाफिज सईद भी अपने उम्मीदवारों के लिए प्रचार कर रहा है. इन रैलियों में वह स्थानीय मुद्दों से ज्यादा भारत विरोधी भावना को हथियार के तौर पर इस्तेमाल कर रहा है. हाफिज अपनी किसी भी रैली में भारत के खिलाफ बोलना नहीं छोड़ रहा है. यहां तक कि वो भारत पर परमाणु हमला करने की खोखली धमकी भी दे रहा है. शुक्रवार को सईद फैसलाबाद में रैली में उसने कहा कि पाकिस्तान को तोड़ने की कोशिश की जा रही है और भारत इस काम के लिए शेख मुजीबुर्रहमान के इंतजार में है.

हाफिज सईद इन चुनावों में खुद को पाकिस्तानी राजनीति के स्थापित स्तंभ की तरह पेश कर रहा है. सईद ने कहा कि हम पाकिस्तान को एक मजबूत प्रतिनिधित्व देने के लिए राजनीति में आए हैं, जो पाकिस्तान की किस्मत बदल देगी. राजनीतिज्ञों ने राजनीति को एक लाभदायक व्यापार बना दिया है, लेकिन हम जीतने के बाद कोई व्यापार नहीं करेंगे. हम पाकिस्तान के अधिकारों के लिए लड़ेंगे और अपने मामलों में विदेशियों के हस्तक्षेप बंद करेंगे. चुनावी रैली में वो कश्मीर राग भी अलाप रहा है. एक रैली में उसने कहा कि कश्मीर भारत के हाथ से निकल रहा है और हम कश्मीरियों को आजाद कराने में मदद करेंगे.

गौरतलब है कि हाफिज सईद ने पाकिस्तान के आम चुनाव में अपने 200 उम्मीदवारों को उतारा है. इसमें उसका बेटा ल्हा और दामाद भी शामिल हैं. उसके आतंकी संगठन जमात-उद-दावा से संबंध रखने की वजह से पहले चुनाव आयोग ने पार्टी मिल्ली मुस्लिम लीग को पंजीकृत नहीं किया. उसके बाद उसने अललाह-हो-अकबर नाम की एक पहले से पंजीकृत पार्टी से अपने उम्मीदवारों को उतारा है. अपनी रैलियों में वो बलूचिस्तान को लेकर भी बात कर रहा है. उसने कहा है कि अमेरिका से लेकर भारत तक सभी गलत खबरें फैलाकर बलूचिस्तान के लोगों को भड़का रहे हैं. उसने यह भी कहा है कि पाकिस्तान के पास ऐसी तकनीक है, जिससे भारत के साथ ही अमेरिका से लेकर रूस तक घुटने टेक सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *