धड़क से लोगों का दिल जीतना चाहती हैं जाह्नवी कपूर

नई दिल्ली (प्रवीण कुमार): बॉलीवुड की पहली फीमेल सुपरस्टार श्रीदेवी की बेटी जाह्नवी कपूर इन दिनों काफी सुर्खियों में हैं. कभी वो अपनी खूबसूरती की वजह से सुर्खियों में छाई रहती हैं, तो कभी अपनी पहली फिल्म धड़क की वजह से वह चर्चा में बनी रहती हैं. जाह्नवी कपूर की पहली फिल्म धड़क 20 जुलाई को रिलीज हो चुकी है, जिसे मराठी फिल्म सैराट का रिमीक बताया जा रहा है. जाह्नवी इस फिल्म को अपनी मां श्रीदेवी को डेडीकेट करना चाहती हैं, जो अब इस दुनिया में नहीं रहीं. इसके साथ ही जाह्नवी कहती हैं कि वे फिल्मों में अपने अभिनय से लोगों का दिल जीतना चाहती हैं, ताकि उनकी मां को उनके ऊपर गर्व हो.

इसके अलावा जाह्नवी ने अपनी मां श्रीदेवी को लेकर यह भी बताया कि बॉलीवुड में मेरी मां की एक अलग इमेज थी. उनका दर्जा कोई नहीं हासिल कर सकता और ना ही कोई उनकी जगह ले सकता है. मैं भी उनकी जगह नहीं ले सकती हूं. मैंने उनकी ज्यादा फिल्में नहीं देखी. ज्यादा से ज्यादा पांच-छह फिल्में ही देखी होंगी, पर मैंने कभी उनकी तरह एक्टिंग करने की कोशिश नहीं की. मैं अपनी छवि खुद बनाना चाहती हूं. उम्मीद करती हूं कि लोग मेरे काम को पसंद करेंगे, जिससे मैं अपनी अलग पहचान बना पाऊंगी.

फिल्म धड़क में उनके साथ बतौर अभिनेता ईशान खट्‌टर हैं, जो शाहिद कपूर के छोटे भाई हैं. लेकिन फिल्म धड़क से सबसे ज्यादा पब्लिसिटी अगर किसी को मिली है, तो वो जाह्नवी कपूर को मिली है. माना जा रहा है कि जाह्नवी कपूर बॉलीवुड की सुपरस्टार एक्ट्रेस बन सकती हैं. अक्सर देखा जाता है कि बॉलीवुड स्टार्स के बच्चे जल्दी अपना फिल्मी करियर शुरू नहीं करते हैं. कई बॉलीवुड स्टार ने तो में अचानक से अपने फिल्मी करियर की शुरूआत की है. जो करना कुछ और चाहते थे, लेकिन बाद में उन्होंने फिल्म इंडस्ट्री को चुना. लेकिन जाह्नवी के साथ ऐसा नहीं है. जाह्नवी ने खुद एक पत्रिका को इंटरव्यू में कहा है कि मैं बचपन से ही इस फील्ड में कॅरइर बनाना चाहती थी. शायद इसकी वजह यह भी है कि मैं बचपन से ही मूवी के सेट्स पर बड़ी हुई हूं. फिल्मों ने मेरी सोच को शेप दिया है. मैंने मां और पापा के साथ फिल्मों के सेट पर जाकर ही सबकुछ सीखा है. मेरी दुनिया बस सिनेमा में ही है. एक समय था जब मैं किसी दूसरे कोर्स की तलाश कर रही थी. मैं फैशन फील्ड में जाना चाहती थी, लेकिन मेरा मूड बदला और मैंने एक्टिंग कोर्स किया. फिर इसी फील्ड की होकर रह गई.

बता दें कि फिल्म इंडस्ट्री में जाह्नवी कपूर के कई सपने हैं, जो वो साकार करने के पूरे प्रयास करेंगी. जी हां, जाह्नवी कपूर बॉलीवुड में कुछ पुरानी अभिनेत्रियों की तरह बनना चाहती हैं. जाह्नवी को मधुबाला, वहीदा रहमान और मीना कुमारी काफी ज्यादा पसंद हैं और वे कहती हैं कि जब कभी इन तीनों की बायोपिक बने, तो वे इन तीनों अभिनेत्रियों का किरदार खुद निभाना चाहेंगी.

जाह्नवी का कहना है कि उन्होंने मधुबाला की मुगले-आज़म, चलती का नाम गाड़ी, वहीदा रहमान की गाइड और मीना कुमारी की पाकीजा जैसी फिल्में देखी है. उनका कहना है कि उन्हें ये सारी फिल्में काफी पसंद हैं और वे अक्सर कोशिश करती रहती हैं कि उनकी तरह बन सकूं. उनका कहना है कि वे इन सब कैरेक्टर को एक बार पर्दे पर दोबारा से फिल्माना चाहती हैं. वे अक्सर इन लीजेंड्स को पर्दे पर देखती रहती हैं और उनसे काफी कुछ सीखती हैं. जाह्नवी कहती हैं कि उनको देखते हुए मुझे लगता है कि मुझे ये करना है.

ऐसे मिला जाह्नवी को फिल्म में चांस- एक बार करण जौहर जाह्नवी कपूर के घर आए और जाह्नवी ने उनके साथ स्क्रिप्ट रीडिंग करना शुरू किया. वे देखना चाहते थे कि जाह्नवी फिल्मों में काम करने के लायक हैं या नहीं. हालांकि, वे जाह्नवी से पहले भी कई बार मिल चुके थे, लेकिन करण ने फिल्म को लेकर कभी भी बात नहीं की थी. बाद में करण ने जाह्नवी का काम देखा और फिल्म धड़क के लिए उन्हें साइन कर लिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *