प्रणब मुखर्जी के बाद अब रतन टाटा संघ प्रमुख के साथ साझा करेंगे मंच


पिछले महीने प्रणब मुखर्जी का संघ के कार्यक्रम में जाना सुर्खियों में रहा था. इस मुद्दे पर कांग्रेस और भाजपा आमने-सामने भी आए और दोनों तरफ से बयानों के तीर भी चले. इस बीच अब खबर है कि पूर्व राष्ट्रपति के बाद अब प्रसिद्ध उद्योगपति रतन टाटा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत के साथ अगले महीने होने वाले एक कार्यक्रम में मंच साझा करेंगे. बताया जा रहा है कि 24 अगस्त को नाना पालकर स्मृति समिति द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में टाटा और भागवत एक साथ शरीक होंगे. नाना पालकर संघ प्रचारक थे, जिनके नाम पर यह समिति स्थापित की गई है.

नाना पालकर के नाम पर बनी इस समिति की एक शाखा मुंबई स्थित टाटा मेमेरियल कैंसर हॉस्पिटल के करीब है. रतन यहां इस शाखा में पहले भी आ चुके हैं. उन्होंने इस बात की भी जानकारी ली थी कि संस्था किस तरह से कैंसर पीड़ित मरीजों की मदद करती है. अब सबकी निगाहें 24 अगस्त वाले कार्यक्रम पर होंगी, जब रतन टाटा संघ प्रमुख के साथ मंच साझा करेंगे. गौरतलब है कि 7 जून को संघ के तृतीय वर्ग के प्रशिक्षण के समापन के मौके पर पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल हुए थे.

उस समय पूर्ण राष्ट्रपति के बयान खूब चर्चा में रहे थे. उन्होंने अपने भाषण में राष्ट्रीयता, राष्ट्रवाद और देशभक्ति पर बात की थी तथा असहिष्णुता, नफरत और संवादहीनता के मामले पर देश के सभी राजनीतिक दलों को नसीहत भी दी थी. संघ के संस्थापक डॉ. हेडगेवार के पैतृक निवास के दर्शन के दौरान प्रणब मुखर्जी द्वारा विजिटर बुक में लिखना भी चर्चा का कारण बना था कि मैं भारत माता की महान संतान को श्रद्धांजलि देने आया हूं. संघ के कार्यक्रम में शामिल नहीं होने को लेकर कई कांग्रेस नेताओं ने प्रणब पर दबाव भी डाला था, लेकिन वे नहीं माने.