रोहिंग्याओं की झुग्गी में मिला 30 लाख कैश, पुलिस भी रह गई दंग

rohingya

दुनिया भर में रोहिंग्या शरणार्थी अपनी गरीबी और परेशानियों को लेकर चर्चा में है. लेकिन जब जम्मू–कश्मीर में पुलिस ने इन रोहिंग्याओं की झुग्गीं में छापा मारा तो सब लोग दंग रह गये.

बता दें कि जम्मू-कश्मीर की पुलिस को कहीं से जानकारी मिली कि रोहिंग्याओं की एक झुग्गी में भारी मात्रा में कैश है. जानकारी के बाद जब पुलिस ने इन गरीब रोहिंग्याओं की बस्ती में छापा मारा तो पुलिस ने एक के घर से 30 लाख रुपये बरामद किए.

इन गरीब के पास इतनी भारी मात्रा में कैश मिलने पर सब के मन में एक ही सवाल उठा कि आखिर इतना कैश आया तो आया कैसे?

पुलिस को यह पूरा कैश कचरे के ढेर के अंदर एक कंटेनर में मिला. कैश मिलने के बाद पुलिस ने पूछताछ के लिये दो लोगों को हिरासत में लिया. दोनों आरोपियों का नाम इसमाइल और नूर आलम है और दोनों की उम्र 19 और 21 वर्ष है. दोनों कुछ दिनों पहले ही बांग्लादेश से लौटे हैं.

पुलिस ने इन आरोपियों से पूछा कि वे बिना पासपोर्ट इतनी बड़ी संख्या में कैश कैसे लेकर आए और इतने पैसों का वो क्या करने वाले हैं, तो इस बात का वे कोई जवाब नहीं दे पाए. इस घटना ने भारत की सिक्युरिटी पर सवाल खड़े कर दिये हैं और सवाल ये उठता है कि वे दोनों लड़के बिना पासपोर्ट के भारत में आए कैसे? और ये भी कि इन शरणार्थियों को कौन इतना पैसा दे रहा है और इन पैसों का ये शरणार्थीं क्या करने वाले हैं?

वहीं जम्मू चेंबर ऑफ़ कॉमर्स, जम्मू एंड कश्मीर नेशनल पैंथर्स पार्टी समेत कई राजनीतिक दल रोहिंग्याओं को देश के लिए खतरा बताते हुए उन्हें बाहर निकालने की मांग कर चुके हैं.