धूल भरी हवा से दिल्ली में इमरजेंसी जैसे हालात

delhi

दिल्ली की हवा एक बार फिर से खराब स्तर पर पहुंच गई है.  दिल्ली में बारिश के थमते ही सामान्य स्तर की हवा में सांस लेने तक का हक भी छिन गया है.  हैरान करने वाली बात जो सामने आई है, पिछले 48 घंटों में दिल्ली में वायु प्रदूषण खतरनाक स्तर तक बढ़ा है. शनिवार और रविवार को स्थिति और बिगड़ने की आशंका है.

दिल्ली में खतरनाक वायु प्रदूषण के पीछे मिडल ईस्ट (मध्य पूर्व) से आने वाली धूल भरी हवा है. यह धूल भरी हवा देश के दक्षिणी पश्चिम हिस्से की हवा भी प्रदूषित कर रही है. दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (DPCC) ने हालात के मद्देनजर इससे संबंधित विभागों को प्रदूषण नियंत्रित करने का निर्देश जारी किया है.

दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, 2 अगस्त से दिल्ली की हवा में धूल की मात्रा तेजी से बढ़ी है. यह स्तर बच्चों और बूढ़ों के स्वास्थ्य के लिए बेहद खतरनाक है.

सफर इंडिया की एडवाइजरी के अनुसार दिल्ली में संवेदनशील लोगों को इस समय अधिक देर तक बाहर नहीं रहना चाहिए. दिल की बीमारी, अस्थमा के रोगियों को विशेष सावधानी बरतने की जरूरत है. जबकि स्वस्थ लोगों को भी इस हवा में परेशानी हो सकती है.

कुछ दिनों तक प्रदूषण लगातार बढ़ेगा. बुधवार को दिल्ली का एयर इंडेक्स 153 और गुरुवार को यह 235 के स्तर तक पहुंच गया. दिल्ली के सबसे प्रदूषित क्षेत्रों में द्वारका, मुंडका और मथुरा रोड शामिल हैं. दिल्ली ही नहीं, एनसीआर में भी प्रदूषण तेजी से बढ़ रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *