BJP विधायक का विवादित बयान-जवाहर लाल नेहरू गाय और सुअर खाते थे, फिर वे पंडित कैसे?

अपने विवादित बयानों के लिए मशहूर भारतीय जनता पार्टी के विधायक ज्ञानदेव आहूजा ने एक बार फिर से विवादित बयान दिया है. भारतीय जनता पार्टी में ऐसे कई नेता हैं जो समय-समय पर विवादित बयान देकर सुर्खियों में बने रहते हैं, उन्हीं में से एक राजस्थान से आने वाले बीजेपी विधायक ज्ञानदेव आहूजा हैं. ज्ञानदेव आहूजा ने जवाहर लाल नेहरू के आगे पंडित शब्द लगाने पर आपत्ति जताई है. ज्ञानदेव आहूजा के मुताबिक, जवाहर लाल नेहरू पंडित नहीं थे.

बीजेपी विधायक ज्ञानदेव आहूजा ने देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू पर हमला बोलते हुए कहा, ‘जवाहर लाल जी नेहरू पंडित नहीं थे. जो गाय का मांस खा जाए, जो सुअर का मांस खा जाए. सुअर मुसलमानों के लिए नापाक है गाय हमारे लिए पवित्र है. जो बाकी जीव-जानवरों को खा जाए, वे कभी पंडित नहीं थे, लेकिन उनके आगे ब्राह्मण को जोड़ा गया.’

आहूजा ने आगे कहा कि गाय हिन्दुओं की आस्था का केंद्र है और सुअर को मुस्लिम बुरा मानते हैं लेकिन जवाहर लाल नेहरू ने किसी को नहीं छोड़ा. बता दें कि आहूजा ने ये बात प्रदेश बीजेपी मुख्यालय में मीडिया से बात करते हुए कही. आहूजा ने आगे कहा कि कांग्रेस ने जवाहर लाल नेहरू के नाम के आगे पंडित लगाकर ब्राह्मणों को अपने साथ जोड़ा और बाबू जगजीवन राम को आगे कर कांग्रेस ने दलित को जोड़ना चाहा लेकिन अब कांग्रेस की पोल खुल गई है.

इससे पहले ज्ञानदेव आहूजा ने जेएनयू को लेकर भी बयान दिया था. उन्‍होंने कहा था कि जेएनयू में रोजाना 3000 बीयर की बोतलें, 2000 शराब की बोतलें, 10 हजार सिगरेट के टुकड़े, 4 हजार बीड़ी, 50 हजार हड्डियों के टुकड़े, 2 हजार चिप्स के पैकेट, 3 हजार उपयोग किए गए कोंडम और 500 गर्भपात के इंजेक्शन मिलते हैं. 63 वर्षीय आहूजा ने कहा कि कोंडम हमारी बहनों और बेटियों के साथ ‘गलत काम’ के लिए इस्तेमाल किए जाते हैं.